शाहजहांपुर-खेड़ा बॉर्डर पर किसान आंदोलन का 78वां दिन, महिलाओं ने संभाला मोर्चा


किसान आंदोलन को दिया समर्थन

By: Rakhi Hajela

Published: 28 Feb 2021, 07:11 PM IST

संयुक्त किसान मोर्चा शाहजहांपुर-खेड़ा बॉर्डर पर रविवार का दिन महिलाओं के नाम रहा। संयुक्त किसान मोर्चा,शाहजहांपुर-खेड़ा बॉर्डर पर प्रदेश की महिला नेत्री रेहाना रियाज के नेतृत्व में राजस्थान के सभी जिलों से महिलाओं के जत्थे पहुंचे और किसान आंदोलन को समर्थन दिया। महिलाओं ने आमसभा को पूरे दिन संबोधित किया। आमसभा को संबोधित करते हुए महिला किसानों ने कहा कि जिस प्रकार सिंघु,टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर महिला किसान पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी हुई हैं, उसी प्रकार अब शाहजहांपुर बॉर्डर पर भी महिलाओं ने मोर्चा संभाला है। भाजपा-आरएसएस की केंद्र सरकार इस भ्रम में न रहे कि ये सिर्फ किसी एक धर्म, एक जाति या एक राज्य का आंदोलन है। सरकार की किसान-विरोधी, जन-विरोधी नीतियों के कारण आज ये आंदोलन पूरे देश का आंदोलन बन चुका है। आम सभा में राजा राम मील,प्रतिभा सिंह पूर्व विधायक, प्रेमा देवी, ममता वशिष्ठ, मुन्नी देवी गोदारा, कमला विश्नोई, प्रवीणा मेघवाल, कमला सूरतगढ़,कविता गुर्जर, रानी लुबना, वंदना मीणा, विजय लक्ष्मी पटेल, हुकुम मीणा, रतन देवी भराड़ा, कल्पना कटारा, प्रियंका नंदवाना, निकिता हाड़ा, कुंती देवडा़, उत्तराखण्ड से ज्योति रौतेला,राजस्थान की नेत्री रेहाना रियाज, कल्पना मीणा, मीना गुप्ता, रेखा परिहार, रचना मीणा, शारदे गुर्जर आदि ने संबोधित किया। कामरेड अमराराम ने सभा का समापन किया।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned