अपराधी पर कमांड की तीसरी आंख

अपराधी पर कमांड की तीसरी आंख

Ashiya Shaikh | Publish: May, 18 2018 03:25:58 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

पल-पल की रहती खबर, आपराधी की हर हरकत पर पुलिस का शिकांजा

केस-1
सडक़ पर एक अज्ञात महिला फोन पर किसी से बात कर रही थी। तभी दो बाइक सवार युवक उस लडक़ी को पेरशान करने लगे। उनमें से एक युवक बाइक ने से उतर महिला का हाथ पकड़ा। उतनी देर में अभय कमांड सेंटर ने उस महिला के पास मौजूद चेतक को इन्फॉर्म किया और चेतक वेन तुरंत उस महिला के पास पहुंची और दोनों युवकों को पकड़ लिया।

केस-2
हाइवे पर एक बाइक सवार का एक्सीडेंट हो गया जो सिरियस स्थिति में है। उस व्यक्ति की मदद के लिए अभय कमांड सेंटर ने पास की चेतक वेन को सूचना दी। जिससे पुलिस तुरंत उस व्यक्ति की सहायता के लिए पहुंची।

केस-3
एक अपराधी की पुलिस काफी समय से तलाश कर रही थी, लेकिन वह पकड़ में नहीं आ रहा था। जिसे कमांड के कैमरे ने देखा और पुलिस ने उसे धरदबोचा।

जयपुर . अपराधियों को पकडऩे और जनता की सहयता के लिए अभय कमांड सेंटर हर पल तत्पर रहता है। शहर के हर कोने में अपनी नजर बनाने और अपराधों को रोकने के लिए सेंटर चौबीसों घंटे काम कर रहा है, ताकि जनता टेंशन फ्री रह सके। कर्मचारियों का कहना है कि हाइवे पर एक्सीडेंट होते रहते है। जिनकी मदद के लिए हम हाइवे के पास मौजूद चेतक को इन्फॉर्म करते हैं और वो तुरंत दुर्घटना स्थल पर पहुंचते है। इस सेंटर का मुख्य उद्देश्य जनता और पुलिस की मदद करना है।


फैक्ट फाइल
विडियो सर्विलांस सिस्टम कार्यवाही
14890 - वीडियो सर्विलांस से थाने व ट्रैफिक को पे्रषित इवेंट
709- पुलिस एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही
1730 - एमवी एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही
53- 109/151 सीआरपीसी के अंतर्गत कार्यवाही
19- स्पेशल व लोकल एक्ट के अंतर्गत कार्यवाही
17401- कुल कार्यवाही की गई
2017 की कार्यवाही अभय कमांड सेंटर के अनुसार

 

100 नम्बर कॉल कम्प्लेंडस फीडबैक
83765- कुल कॉल कम्प्लेन
46938- लोग संतुष्ट रहे
3480- लोग संतुष्ट नहीं रहे
7695- लोगों का फोन स्विच ऑफ
4928- लोगों ने कहा कार्यवाही की जरूरत नहीं है
10531- लोगों ने बात नहीं की
7969- मिसलेनियस
2224- अन्य कॉल्स
1 अप्रेल से 31 दिसंबर 2017 के आंकड़े अभय कमांड सेंटर के अनुसार

महिला पट्रोलिंग कार्यवाही
11- 109 सीआरपीसी कार्यवाही
40- 151 सीआरपीसी कार्यवाही
01- 102 सीआरपीसी कार्यवाही
14-60/38 पुलिस एक्ट कार्यवाही
45- एम वी एक्ट कार्यवाही
01- ईएक्सआई कार्यवाही
04- परिवाद/मुकदमा
95- अन्य कार्यवाही
211- कुल कार्यवाही
मई से दिसंबर 2017 तक की कार्यवाही अभय कमांडा सेटर के अनुसार

कॉल कम्प्लेन का लेते हैं फीडबैक
सेंटर में आने वाली आपातकालीन कॉल्स के नम्बर सम्बंधित थाने को देते हैं, ताकि वे असानी से उस व्यक्ति की प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकें। इसके अलावा सेंटर से तीन घंटे बाद आपातकालीन कॉल्स के कॉलर्स को कॉल करके उनका फीडबैक लिया जाता है, यह जानने के लिए कि वह पुलिस की कार्यवाही से संतुष्ट है या नहीं।

तुरंत चेतक करती है कार्यवाही
अभय कमांड सेंटर की एडीशनल एसपी कलम शेखावत ने बताया कि सेंटर के सभी कर्मचारी शहर में लगे कैमरों में चल रही गतिविधियों पर नजर रखते हैं। जहां भी उन्हें कुछ गलत होता नजर आता है या कुछ होने की सम्भावना लगती है, तो सेंटर की टीम तुरंत उस क्षेत्र में उपस्थित चेतक को सूचना देती है और चेतक उस जगह पहुंच कार्यवाही करती है। यह सब काम सेंटर टीम एमडीटी के माध्यम से निकटतम घटना स्थल की लोकेशन शेयर कर देते हैं, जिससे चेतक को जाने में समस्या नहीं होती है।

महिला पेट्रोलिंग यूनिट रहती हर पल एक्टिव
शहर में महिलाओं की सेफ्टी के लिए महिला पेट्रोलिंग यूनिट को करीब 200 संवेदनशील पॉइंट पर स्कूटी के साथ तैनात किया गया है। जहां भी उन्हें कुछ गतिविधियां होते दिखती हैं वे तुरंत चेतक की सहायता से आवश्यक कानूनी कार्यवाही करती है। इसके अलावा सेंटर की ओर से भी उन्हें घटना स्थलों के बारे में बताया जाता है साथ ही उनके स्कूटी में लगे जीपीएस पर लोकेशन भी शेयर कर देते हैं, ताकि महिला पुलिस अपराधियों को पकड़ सके। इस यूनिट में 52 महिलाओं की 26 टीमें बनाई गई है। जो दो पारियों में काम करती हैं।

वर्जन-
अभय कमांड सेंटर शहर में हो रही गातिविधियों पर नजर रखने के साथ-साथ अपराधियों को भी पकड़वाता है। इस सेंटर का मुख्य उद्देश्य जनता की रक्षा करना व अपराधों को रोकना है।
कलम शेखावत, एडीशनल एसपी, अभय कमांड सेंटर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned