जयपुर में पटवारी ट्रेप: उधर जयपुर, उदयपुर, कोटा के करोड़पति अफसरों के यहां छापे

आय से अधिक सम्पति अर्जित करने के मामले में 3 अधिकारियों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज कर 10 स्थानों पर तलाशी शुरू
चौमू में पटवारी को ट्रेप करने के बाद उसके घर में भी सर्च कर रही टीम

By: JAYANT SHARMA

Updated: 20 Nov 2020, 02:14 PM IST

जयपुर। भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टालरेन्स नीति व भ्रष्ट अधिकारियों द्वारा आय से अधिक सम्पति भ्रष्ट साधनों से अर्जित करने के विरूद्ध ए.सी.बी. ने 3 विभिन्न अधिकारियों की आसूचना एकत्र कर 3 प्रकरण पंजीबद्ध कर, उनके 10 ठिकानों पर औचक तलाशी शुरू की है। साथ ही आज चौमू, जयपुर में भी एक ट्रेप आयोजित किया है।

एक पटवारी को 11 हजार रुपए लेते रंगे हाथों धरा है अब उसके घर में सर्च की जा रही है। डीजी एसीबी बीएल सोनी ने बताया कि ए.सी.बी. मुख्यालय की इन्टेलिजेन्स शाखा, उदयपुर व कोटा इकाई द्वारा 3 विभिन्न अधिकारियों के विरूद्ध आय से अधिक सम्पति भ्रष्ट साधनों से अर्जित करने की सूचना मिलने पर, आसूचना एकत्र कर उनके विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज कर, तलाशी वारन्ट प्राप्त कर उनके विभिन्न ठिकानों पर सर्च की कार्यवाही शुरू की गई है।

उदयपुर के अधीक्षक अभियंता के पास आठ करोड़ से ज्यादा की सम्पत्ति का अनुमान
प्रथम प्रकरण गिरीश कुमार जोशी, अधीक्षक अभियंता ए.वी.वी.एन.एल. उदयपुर के विरूद्ध दर्ज किया जाकर उनके 4 स्थानों पर विभिन्न टीमों द्वारा सर्च सुधीर जोशी अति. पुलिस अधीक्षक, ए.सी.बी. उदयपुर के नेतृत्व में की जा रही है। सर्च को हिंगलाज दान उप महानिरीक्षक पुलिस ए.सी.बी. उदयपुर द्वारा सुपरवाईज किया जा रहा है। गिरीश कुमार जोशी द्वारा प्रथमदृष्टया आय के आनुपातिक रूप से 8 करोड से अधिक अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है। कई मकान, लग्जरी कारें, महंगी वस्तुएं मिली हैं जिनके मालिकाना हक के बारे में पडताल जारी है।

बूंदी का यह रिश्वतखोर अफसर भी करोड़पति
द्वितीय प्रकरण चिरंजीलाल सहायक विकास अधिकारी पंचायत समिति केशोरायपाटन जिला बूंदी के विरूद्ध दर्ज किया जाकर उनके 4 ठिकानों पर विभिन्न टीमों द्वारा सर्च प्रेरणा शेखावत अति. पुलिस अधीक्षक ए.सी.बी. कोटा देहात के नेतृत्व में की जा रही है। तलाशी अभियान का सुपरविजन पुलिस अधीक्षक ए.सी.बी. कोटा अनिल बेनीवाल द्वारा किया जा रहा है। ए.सी.बी. के प्रथमदृष्टया आंकलन के अनुसार आरोपी चिरंजीलाल द्वारा 2.68 करोड की अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है।

जयपुर का यह अफसर भी करोड़ों का मालिक, अब दे रहा सफाई
तृतीय प्रकरण सतीश कुमार गुप्ता सीनियर डी.जी.एम. (सिविल) रीको जयपुर (जो अधीक्षण अभियंता स्तर के अधिकारी है) के विरूद्ध दर्ज कर इनके 2 स्थानों पर सर्च कार्यवाही आलोक शर्मा अति. पुलिस अधीक्षक ए.सी.बी. जयपुर शहर प्रथम के निर्देशन में की जा रही है। आरोपी सतीश कुमार गुप्ता द्वारा ए.सी.बी. के प्रथमदृष्टया आंकलन के अनुसार 4.13 करोड की अवैध सम्पति अर्जित करने का अनुमान है। परिवार के नजदीकी सदस्यों की सम्पत्ति पर भी एसीबी की नजर है।

जयपुर के चौमू में पटवारी को किया ट्रेप
साथ ही एसीबी ने आज जयपुर के चौमू में भी एक ट्रेप की कार्रवाई को अंजाम दिया है। ए.सी.बी. की जयपुर ग्रामीण इकाई को परिवादी द्वारा शिकायत दी गई कि सीमा ज्ञान एवं नामांतरण खोलने की एवज में पटवार हल्का नांगल भरड़ा तहसील चैंमू के पटवारी राजेन्द्र मीणा द्वारा 11 हजार रूपये की रिश्वत की मांग कर परेशान किया जा रहा है। जिस पर एसीबी के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरोतम वर्मा के नेतृत्व में नीरज भारद्वाज पुलिस निरीक्षक एवं उनकी टीम द्वारा आज ट्रेप की कार्यवाही करते हुये राजेन्द्र मीणा पटवारी को 11 हजार रूपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। उक्त सभी प्रकरणों में आरोपियों के आवास एवं अन्य ठिकानों की तलाशी अभियान का पर्यवेक्षण दिनेश एम.एन. अतिरिक्त महानिदेशक के नेतृत्व में इन्टेलिजेन्स शाखा के अति. पुलिस अधीक्षक चन्द्र प्रकाश शर्मा एवं अन्य टीमों द्वारा किया जा रहा है।

JAYANT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned