पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: नकल काे लेकर SOG ने एक आैर सेंटर पर दी दबिश

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: नकल काे लेकर SOG ने एक आैर सेंटर पर दी दबिश

Santosh Kumar Trivedi | Publish: Mar, 14 2018 09:21:28 AM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 09:30:19 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल काे लेकर बुधवार काे एसआेजी टीम ने मुरलीपुरा क्षेत्र के एक सेंटर पर दबिश दी।

जयपुर। पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में नकल काे लेकर बुधवार काे एसआेजी टीम ने मुरलीपुरा के डॉल्फिन इंटरनेशनल स्कूल पर दबिश दी। इस दौरान टीम काे कुछ हाथ नहीं लगा। हालांकि एसआेजी की टीम ने कुछ दस्तावेजाें की जांच की है। एसआेजी काे इस सेंटर पर भी नकल कराए जाने की सूचना मिली थी।

 

एसओजी ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा सिस्टम हैक कर नकल कराने के लिए गिरोह की मदद लेने वाले परीक्षार्थियों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। करीब दर्जनभर एेसे परीक्षार्थी चिह्नित हो चुके हैं और एक परीक्षार्थी को गिरफ्तार कर लिया गया। वहीं, एक परीक्षार्थी से पैसे वसूलने वाले को भी गिरफ्तार किया गया है।

 

गिरोह के सरगना फिलहाल फरार हैं। इसबीच मालवीय नगर पुलिस की मदद से पकड़े गए परीक्षा केंद्र संचालक समेत छह लोगों को मंगलवार को पुलिस ने अदालत में पेश कर 10 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया है।

 

एसओजी के एडीजी उमेश मिश्रा ने बतायानागौर के निम्बोला कलां के एक परीक्षार्थी रामदेव खींचड़ को गिरफ्तार कर लिया गया है। रामदेव नागौर के एक इंस्टीट्यूट में कोचिंग लेने जाता था, जिसके संचालक ने आरोपियों से संपर्क कराया और पास कराने के लिए पेशगी एक लाख रुपए लिए।

 

उत्तीर्ण होने के बाद और रुपए देने तय किए थे। कुछ परीक्षार्थियों को अनुचित लाभ पहुंचाने वाले गिरोह के छह सदस्य विकास, अमोल महाजन, अभिमन्यु सिंह, संजय छिकारा, अंकित सहरावत, अमित को गिरफ्तार किए गए थे। जिला नागौर व गिरोह के लिए परीक्षार्थियों से परीक्षा में नकल कराने के रुपए उगाहने वाले दिल्ली के नॉर्थ-वेस्ट में सुल्तानापुर निवासी राजीव डबास को भी गिरफ्तार किया गया।

 

कम्प्यूटर खराब बता दूसरी जगह बिठाया
एसओजी ने बताया कि परीक्षार्थी रामदेव खींचड़ ने 8 मार्च को सवेरे 8.30 बजे वाली पारी में परीक्षा दी थी। रामदेव को परीक्षा केन्द्र में जो कम्प्यूटर अलॉट किया गया था, उसे गिरोह के सदस्यों विकास, अमोल ने खराब बताकर उसे दूसरी सीट बिठाया और उस कम्प्यूटर को आउटर की मदद से हैक करके प्रश्नपत्र हल करवाया। गिरोह ने परीक्षा केंद्र पर लगे कम्प्यूटर के सिस्टम को वायरलेस रिमोट के जरिए हैक करके दूसरी बिल्डिंग में रखे कम्प्यूटरों पर समानांतर पेपर चलाकर कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के पेपर को हल करवाया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned