डेट फंड एक बार फिर से निवेशकों का पसंदीदा

भारतीय रिजर्व बैंक ने इस बार रेपो रेट में कोई कटौती नहीं की है। इससे डेट फंड ( debt funds ) एक बार फिर से निवेशकों ( Investor ) के लिए पसंदीदा साबित हो सकते हैं। ऐसे में अगर आप डेट फंड में निवेश करना चाहते हैं तो जानिए कि कौन से म्यूचुअल फंड ( Mutual Fund ) हैं, जिनकी स्कीम ने बेहतर प्रदर्शन किया है। इन स्कीम्स ने 11 प्रतिशत से ज्यादा का रिटर्न पांच सालों में दिया है।

By: Narendra Kumar Solanki

Published: 11 Oct 2020, 09:18 PM IST

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक ने इस बार रेपो रेट में कोई कटौती नहीं की है। इससे डेट फंड एक बार फिर से निवेशकों के लिए पसंदीदा साबित हो सकते हैं। ऐसे में अगर आप डेट फंड में निवेश करना चाहते हैं तो जानिए कि कौन से म्यूचुअल फंड हैं, जिनकी स्कीम ने बेहतर प्रदर्शन किया है। इन स्कीम्स ने 11 प्रतिशत से ज्यादा का रिटर्न पांच सालों में दिया है।
अर्थलाभ डॉटकॉम के आंकड़े बताते हैं कि आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड का मीडियम टर्म बांड फंड लगातार बेहतर प्रदर्शन करता रहा है। इसने एक साल की अवधि में 11.51 प्रतिशत का, जबकि पांच साल में 8.86 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसका असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 5068 करोड़ रुपए रहा है, जबकि एचडीएफसी मीडियम टर्म बांड फंड का रिटर्न एक साल में महज 9.97 प्रतिशत और पांच साल में 8.65 प्रतिशत रहा है। इसका एयूएम महज 1115 करोड़ रुपए रहा है।
इसी तरह आईडीएफसी बांड फंड मीडियम टर्म ने एक साल में 10.37 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। पांच साल में इसका रिटर्न 8.71 प्रतिशत रहा है। इसका एयूएम 3461 करोड़ रुपए रहा है। कोटक महिंद्रा मीडियम टर्म बांड ने एक साल में 8.74 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। पांच साल में 8.45 प्रतिशत का रिटर्न इसका रहा है। इसका एयूएम 1480 करोड़ रुपए रहा है।
विश्लेषकों के मुताबिक आज के माहौल में अगर कोई तीन से पांच साल तक के समय के लिए निवेश करना चाहता है तो उसके लिए मीडियम टर्म बांड फंड अच्छा विकल्प साबित हो सकता है। जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है कि यह स्कीम बांड्स और मनी मार्केट में निवेश करती है। इसके निवेश का मैच्योरिटी समय 3 से 4 साल का होता है। इस कैटेगरी में प्रदर्शन के आधार पर देखें तो आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मीडियम टर्म बांड फंड सबसे ऊपर है। साथ ही इस कैटेगरी में इसका एयूएम भी इन चार फंड्स की तुलना में ज्यादा है।
इस फंड का पिछले 15 सालों का ट्रैक रिकॉर्ड है। ब्याज दर के माहौल में यह स्कीम कॉर्पोरेट बांड्स और सरकारी प्रतिभूतियों (सिक्योरिटीज) में निवेश करती है। यह फंड 50 प्रतिशत निवेश एएए रेटिंग वाले बांड्स में करता है, जबकि बाकी 50 प्रतिशत एए रेटिंग वाले में निवेश करता है। फिलहाल यह स्कीम पोर्टफोलियो का करीबन 25 प्रतिशत हिस्सा ज्यादा लिक्विड वाली सिक्योरिटीज में निवेश की है। बाकी 21 प्रतिशत हिस्सा एएए सिक्योरिटीज में निवेश की है।
अर्थलाभ डॉटकॉम के इस फंड की तुलना में अगर इसकी कैटेगरी का रिटर्न देखें तो इसने एक साल में 5.3 और 5 साल में 7.1 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। बाजार की स्थितियों के आधार पर इन फंड्स का अच्छा रिटर्न रहता है। विश्लेषकों के मुताबिक आगे चलकर ब्याज दरों में बदलाव भी आ सकता है। ऐसे मामलों में इस तरह के फंड से ही निवेशकों को बेहतर रिटर्न मिल सकता है।

Narendra Kumar Solanki Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned