हादसे के बाद अलर्ट: बिजली संबंधित शिकयात के लिए करें फोन, साथ ही बरतें ये सावधानियां

हादसे के बाद अलर्ट: बिजली संबंधित शिकयात के लिए करें फोन, साथ ही बरतें ये सावधानियां

abdul bari | Publish: Jul, 17 2019 08:45:35 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

( jvvnl ) बिजली से संबंधित शिकायत, ( electricity complaint number ) दुर्घटना सम्भावित बिजली लाईने आदि के बारे में कॉल सेन्टर के टोल फ्री नम्बर 18001806507, ( bijli complaint number ) टेलीफोन न. 0141-2203000, मोबाईल नम्बर 9414037085 एसएमएस/व्हाट्सएप से फोटो व लोकशन भेजकर तथा डिवीजन स्तर पर स्थापित उपभोक्ता सेवा केन्द्र पर सूचना व शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है।

जयपुर

राजधानी के शाहपुरा कस्बे में मंगलवार को 11 हजार केवी की लाइन से हुए हादसे ( Death by Current in jaipur ) में दो लोगों की मौत के बाद सरकार ने विद्युत आपूर्ति व विद्युत दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए बरती जानी वाली प्रमुख सावधानियां जारी की हैं। बरसात के मौसम में विद्युत उपभोक्ता एवं आमजन यह सावधानियां ( Electrical accident Caution ) बरतें तो विद्युत जनित हादसों को टाला जा सकता है।

जयपुर डिस्कॉम के प्रबन्ध निदेशक ए.के.गुप्ता ने बताया कि बरसात में विद्युत आपूर्ति में होने वाले व्यवधान एवं विद्युत जनित हादसों से जान-माल की हानि को बचाने के लिए विद्युत उपभोक्ताओं के साथ ही आमजन भी कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखे तो बिजली आपूर्ति सुचारु रखने के साथ ही संभावित विद्युत दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है।

यह रखें सावधानियां

बारिश के मौसम में बिजली के खम्भे, वितरण बॉक्स, ट्रांसफार्मर, अर्थिंग वायर, किसी भी बिजली लाइन या ट्रांसफार्मर से छेड़छाड़ का प्रयास नही करना चाहिए। लुपिंग नही करनी चाहिए क्योंकि बारिश के मौसम में अच्छा अर्थिंग मिलने से हाई वोल्टेज का करन्ट आपस में प्रवाहित हो सकता है। कहीं पर भी चिंगारी उठ रही हो, कोई तार टूट जाए, किसी पोल या अर्थिंग सेट में करंट आ रहा हो तो, तुरन्त सम्बन्धित अभियन्ता या जीएसएस को सूचना दें। न तो स्वयं हाथ न लगायें और न ही किसी दूसरे व्यक्ति को ऐसा करने दें।

 

सीधे पोल के तार न लगाएं

इसके अलावा बिजली के खम्भों से पशुओं को न बांधें, कभी भी करंट प्रवाहित हो सकता है। बिजली की लाइनों के नीचे कोई भी वाहन खड़ा करने से बचें। मीटर के अलावा सीधे पोल के तार न लगाएं क्योकि सप्लाई आने पर घर के उपकरण जल सकते हैं। इसमें मीटर एक सुरक्षा युक्ति का काम करता है। घर में ईएलसीबी स्विच जरूर लगवाएं, जिससे घर के बिजली तंत्र में गड़बड़ी होने पर बिजली आपूर्ति स्वतः ही बंद हो जाए और जीवन हानि को टाला जा सके। बिजली फिटिंग के साथ ही अर्थ वायर डाला जाना व समूचे तंत्र को घर के बाहर उपयुक्त अर्थ कर जोड़ना चाहिए और उसकी समय-समय पर जाचं कराते रहना चाहिए।

 

विद्युत लाइनाें के प्रति विशेष सतर्क रहना चाहिए

इस बात का भी ध्यान रखें कि पशुओं के तबेलों के आसपास बिजली आपूर्ति हेतु घरेलू वायरिंग खुली न हो तथा पीवीसी पाईप में उचित तरीके से स्थापित की गई हो। छत पर या आसपास से गुजरती हुई बिजली की लाईन से छेडछाड़ की कोशिश नहीं करनी चाहिए। अपितु बिजली लाईन से पर्याप्त दूरी बनाए रहना चाहिए। बिजली के खम्भे या स्टै-वायर से डोरी बांधकर कपडे़ सुखाने के काम में नही लेना चाहिए। हार्वेस्टर मशीन, जेसीबी मशीन, बोरवेल मशीन, भूसा गाड़ी, ट्रेक्टर, ट्रक, बसों की छत पर बैठे व्यक्ति ऊपर से गुजर रही 33/11 के.वी. लाईन से सुरक्षित दूरी बनाए रखें, इसके लिये उन्हें सड़क से गुजरते समय विद्युत लाइनाें के प्रति विशेष सतर्क रहना चाहिये।

 

यहां करें शिकायत
बिजली से संबंधित शिकायत, ( electricity complaint number ) दुर्घटना सम्भावित बिजली लाईने आदि के बारे में कॉल सेन्टर के टोल फ्री नम्बर 18001806507, ( bijli complaint number ) टेलीफोन न. 0141-2203000, मोबाईल नम्बर 9414037085 एसएमएस/व्हाट्सएप से फोटो व लोकशन भेजकर तथा डिवीजन स्तर पर स्थापित उपभोक्ता सेवा केन्द्र पर सूचना व शिकायत दर्ज करवाई जा सकती है। इसके साथ ही जयपुर डिस्कॉम क्षेत्र के उपभोक्ता अपनी शिकायतें बिजली मित्र एप के द्वारा भी दर्ज करवा सकते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned