फिर पकड़ा छात्र, ओडीशा से लाता था 5 हजार कमिशन में गांजा

सरगना सहित गांजा लेकर आ रहे युवक को भी पकड़ा

By: Devendra Sharma

Published: 18 Feb 2020, 09:11 PM IST

जयपुर. पुलिस आयुक्तालय की सीएसटी, सदर, प्रताप नगर व शिवदासपुरा थाना पुलिस ने शहर में अलग-अलग जगहों पर कार्रवाई करते हुए 8 मादक पदार्थ तस्करों को पकड़ा है। पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव ने बताया कि ओडीशा से गांजा लाने वाले गिरोह को पकड़ा है। इसमें एक छात्र भी है, जो कि सेना भर्ती की तैयारी कर रहा था। जयपुर रेलवे स्टेशन पर 4 किलो 700 ग्राम गांजा लेकर आए नागौर निवासी कुलदीप सिंह राठौड़ और उससे माल लेने आया मारोठ नागौर निवासी दिग्वजय सिंह उर्फ डिग्गु बन्ना को गिरफ्तार किया गया। इनके गिरोह के मुख्य सरगना रेनवाल निवासी बजरंग शर्मा को भी गिरफ्तार किया है।


एक सप्ताह से पीछे लगी थी पुलिस

एडीसीपी विमल नेहरा ने बताया कि गत 12 फरवरी को सिंधी कैम्प से गिरफ्तार इंजीनियर अभिषेक दास व साम्बित से पूछताछ में सामने आया था कि बजरंग उनसे माल लेने वाला था। तभी से उसके गिरोह का पता लगाने में जुटे रहे। जांच में सामने आया कि बजरंग कुछ साल पहले नौकरी की तलाश में जयपुर आया था, रिकवरी का भी काम करने लगा। मादक पदार्थ तस्करों से पहचान होने पर सीधे ओडीशा जाने लगा और वहां से माल मंगवाता था। वहां भी एक बार गिरफ्तार भी हो चुका है।


5000 रुपए मिलता था कमिशन

ओडिशा में चल रहे केस के संबंध में बजरंग अपने साथी कुलदीप को लेकर के वहां पर 7 फरवरी को पेशी पर गया था। कुलदीप को तस्करों से मिलवाकर के छोड़ दिया। कुलदीप 12 वीं पास है और सेना में भर्ती की तैयारी कर रहा था। उसे माल लेकर आने के लिए कमिशन के तौर पर 5000 रुपए मिलने वाले थे। जांच में यह भी पता चला है कि बजरंग वीकेआइए एरिया में टैम्पो चलाता है और सीकर रोड के आस-पास के इलाकों में गांजा सप्लाई करता है।


यहां भी की गई कार्रवाई

शिवदासपुरा पुलिस ने 10 ग्राम स्मैक के साथ आगरा निवासी दीपक चौधरी उर्फ छल्ला, करौली निवासी भगवान सहाय उर्फ पप्पू कोडिया, निक्की उर्फ नरेन्द्र मीणा व प्रताप नगर निवासी मधु नरूका को गिरफ्तार किया है। इनके पास से करीब 10 ग्राम स्मैक बरामद की है। उधर प्रताप नगर थाना पुलिस ने भी 10 ग्राम स्मैक के साथ सवाईमाधोपुर निवासी रूकम सिंह को गिरफ्तार किया है।


छात्र कर रहे तस्करी

एक सप्ताह में पुलिस की कार्रवाई से यह बात सामने आई है कि युवा पीढ़ी न सिर्फ नशा कर रही है, बल्कि तस्करी भी शामिल है। कोई बीटेक का छात्र है तो कोई इंजीनियरिंग कर चुका है। पुलिस ऐसे युवाओं के परिवार वालों से संपर्क करके उन्हें समझा भी रही है।

Devendra Sharma
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned