धार्मिक स्थल खोले जाएं या नहीं, सरकार लेगी निर्णय

अनलॉक शुरू होने के बाद धार्मिक स्थलों को छोड़ लगभग सभी प्रकार की गतिविधियों को खोलने की सरकार अनुमति दे चुकी है। अब धार्मिक स्थल को 30 जून के बाद खोला जाए या नहीं, इसे लेकर राज्य सरकार के स्तर पर धार्मिक स्थल खोलने के लिए गाइडलाइन तैयार कर निर्णय किया जाएगा।

By: Umesh Sharma

Published: 26 Jun 2020, 06:32 PM IST

जयपुर।

अनलॉक शुरू होने के बाद धार्मिक स्थलों को छोड़ लगभग सभी प्रकार की गतिविधियों को खोलने की सरकार अनुमति दे चुकी है। अब धार्मिक स्थल को 30 जून के बाद खोला जाए या नहीं, इसे लेकर राज्य सरकार के स्तर पर धार्मिक स्थल खोलने के लिए गाइडलाइन तैयार कर निर्णय किया जाएगा। जयपुर कलेक्ट्रेट में पिछले दिनों विधायको, धर्मगुरूओं की बैठक में धार्मिक स्थल खोलने को लेकर मिले सुझावों के आधार पर जिला कलेक्टर ने राज्य सरकार को प्रस्ताव भिजवा दिया है।

कलेक्टर के साथ हुई बैठक में धार्मिक स्थलों को खोलने के संबंध में धर्मगुरु भी दो धड़ों में बंटे नजर आए थे। एक ओर जहां एक जुलाई से सावधानी बरतते हुए प्रशासन के सहयोग से धार्मिक स्थलों को खोलने जाने की मांग की। वहीं दूसरा धड़ा कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने की वजह से इस अवधि को बढ़ाने के पक्ष में नजर आया। धर्म गुरुओं ने स्पष्ट कह दिया कि स्थलों को खोले जाने के बाद प्रशासन और पुलिस का सहयोग जरूरी होगा। बैठक में एक दर्जन से अधिक धर्म गुरुओं ने अलग-अलग सुझाव दिए। हालांकि ज्यादातर धर्मगुरु एक जुलाई से मंदिरों को खोलने के पक्षधर हैं।

त्योहार और पर्व पर भी होगा निर्णय

सरकार की ओर से जो गाइडलाइन बनाई जाएगी, उसमें आने वाले त्योहार और पर्व को लेकर भी निर्देश दिए जाएंगे। आने वाले दिनों में सावन मास शुरू होने वाला है। इस दौरान कावड़ यात्रा की धूम रहेगी। इसी तरह गुरू पूर्णिमा, जन्माष्टमी और गणेश चतुर्थी जैसे बड़े त्योहार पर भी शहर में श्रद्धालुओं की जबर्दस्त भीड़ रहती है। ऐसे में सरकार भीड़ कम करने के संबंध में भी निर्देश जारी कर सकती है।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned