अगले 24 घंटे में राजस्थान के इन 7 जिलों में भारी बारिश के आसार, बीकानेर-जयपुर होकर गुजर रही मानसून की टर्फलाइन

Heavy Rain Alert In Rajasthan: बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तंत्र के असर से गुजरात, महाराष्ट्र के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश ( Heavy Rain ) हो रही है। वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के कई इलाकों में मानसून ( Monsoon ) विदा होने से पहले अगले दो तीन दिन झमाझम बारिश का दौर जारी रहने वाला है...

By: dinesh

Updated: 05 Sep 2019, 10:18 AM IST

जयपुर। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवाती तंत्र के असर से गुजरात, महाराष्ट्र के कई इलाकों में मूसलाधार बारिश ( Heavy Rain in Rajasthan ) हो रही है। वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के कई इलाकों में मानसून ( Monsoon ) विदा होने से पहले अगले दो तीन दिन झमाझम बारिश का दौर जारी रहने वाला है। मौसम विभाग ( IMD ) के अनुसार मानसून टर्फलाइन बीकानेर व जयपुर होकर गुजर रही है वहीं अगले 24 घंटे में अजमेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़, राजसमंद, बाड़मेर, जालौर और पाली जिले के कई इलाकों में तेज बारिश ( ( Heavy Rain ) होने की संभावना है।

बीते 24 घंटे में प्रदेश ( Rajasthan Weather Forecast ) के कई इलाकों में बादलों की आवाजाही बनी रही। उत्तर पूर्वी इलाकों में कम वायुदाब क्षेत्र के असर से घने बादलों की आवाजाही प्रदेश के उत्तर पूर्वी इलाकों समेत कई राज्यों में भी बनी रही है। अगले 24 घंटे में प्रदेश समेत उत्तराखंड और मध्य प्रदेश के पूर्वी इलाकों में भी तेज बारिश होने की संभावना मौसम विभाग ने जताई है। बीते बुधवार को अजमेर,कोटा और उदयपुर में हल्की से मध्यम बारिश रेकॉर्ड हुई है।

राजधानी जयपुर में भी छितराई बौछारें बीती शाम गिरी लेकिन पारे में गिरावट के बाद भी उमस और गर्मी के तेवर कम नहीं हुए। आज सुबह भी शहर में बादलों की आवाजाही बनी रही है। स्थानीय मौसम केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार शहर में आज बादल छाए रहने और छितराई बौछारें गिरने की संभावना है।


मौसम एवं भूगोल विशेषज्ञ ने बताया कि मानसून का पांचवां चरण अगले दो दिन में सक्रिय हो सकता है। मौसम विभाग के उपग्रह चित्रों के अनुसार मेवाड़ वागड़ में बारिश हो सकती है। अरब सागरीय शाखा का मानसून कोकण तट पर पुन: सक्रिय हो गया है। बंगाल की खाड़ी का मानसून आंध्रप्रदेश-ओडिशा के समीप सक्रिय हो गया। इसका प्रभाव अगले दो दिनों में उत्तर, उत्तर पश्चिम क्षेत्र में बरसात होने की संभावना है।


बीसलपुर डेम में पानी की लगातार बनी हुई है आवक
वहीं बीसलपुर डेम में पानी की आवक लगातार बनी हुई है। हालांकि बीते चौबीस घंटे में पानी की आवक स्थिर रही है लेकिन डेम के दो गेट अब भी खुले हैं और प्रति सैकंड 12 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। वहीं दूसरी तरफ जयपुर, अजमेर और टोंक जिलों को रोजाना की जा रही पेयजल सप्लाई के बावजूद डेम ओवर फ्लो है और पानी की निकासी जारी है। जल संसाधन विभाग के अधिशाषी अभियंता रविंद्र कटारा ने बताया कि वर्ष 2016 में डेम ओवरफ्लो होने पर डेम के 18 में से 16 गेट खोलकर पानी की निकासी करीब डेढ़ महीने तक जारी रही। वहीं इस बार भी भीलवाड़ा,चित्तौड, राजसमंद,अजमेर में आगामी दिनो में तेज बारिश होने की मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार सहायक नदियों में पानी का बहाव तेज है। जिसके कारण त्रिवेणी में भी पानी का बहाव ढाई से चार मीटर तक बना रहा है। हालांकि बीते 24 घंटे में त्रिवेणी में पानी का बहाव ढाई मीटर के आस पास रहा लेकिन फिर भी डेम के खुले दो गेट एक— एक मीटर उंचाई तक खोलकर 12020 क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है। आगामी दिनों में भी डेम के गेट खुले रहने और पानी निकासी की कार्रवाई जारी रहेगी।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned