scriptIncreasing cases of blood cancer, treatment is possible with timely | ब्लड कैंसर के बढ़ रहे मामले, समय पर पहचान से इलाज संभव | Patrika News

ब्लड कैंसर के बढ़ रहे मामले, समय पर पहचान से इलाज संभव

सितंबर महीना ‘ब्लड कैंसर जागरूकता माह’ (blood cancer awareness month) के रूप में मनाया जाता है। ब्लड कैंसर कई प्रकार के होते हैं ल्यूकेमिया, लिम्फोमा और मल्टीपल मायलोमा। कुछ कैंसर आनुवांशिक होते हैं। अस्पताल में लिम्फोमा कैंसर के केस ज्यादा सामने आते हैं। यह ब्लड कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन आमतौर पर बुजुर्ग लोगों में ज्यादा होता है।

जयपुर

Published: September 23, 2022 12:44:21 am

जयपुर। सितंबर महीना ‘ब्लड कैंसर जागरूकता माह’ (blood cancer awareness month) के रूप में मनाया जाता है। ब्लड कैंसर पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में एसएमएस हॉस्पिटल (SMS hospital) के हेमेटोलॉजिस्ट डॉ. विष्णु शर्मा (Hematologist Dr. Vishnu Sharma) ने बताया कि ओपीडी में रोज 8-10 मरीजों में संभावित ब्लड कैंसर की समस्या देखने को मिल रही है। ब्लड कैंसर के मामले ज्यादा आने लगे हैं, क्योंकि अब डायग्नोसिस संबंधित सुविधाएं ज्यादा बढ़ गई हैं और मरीज के लिए भी किसी भी सेंटर तक जाना आसान हो गया है।
ब्लड कैंसर के बढ़ रहे मामले, समय पर पहचान से इलाज संभव
ब्लड कैंसर के बढ़ रहे मामले, समय पर पहचान से इलाज संभव
डॉ. शर्मा ने कहा कि ब्लड कैंसर कई प्रकार के होते हैं ल्यूकेमिया, लिम्फोमा और मल्टीपल मायलोमा। कुछ कैंसर आनुवांशिक होते हैं। अस्पताल में लिम्फोमा कैंसर के केस ज्यादा सामने आते हैं। यह ब्लड कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन आमतौर पर बुजुर्ग लोगों में ज्यादा होता है। ब्लड कैंसर होने पर कैंसर की कोशिकाएं व्यक्ति के शरीर में खून बनने नहीं देती, जिससे खून की कमी होने लगती है। इसके अलावा कैंसर व्यक्ति की बोन मैरो को भी नुकसान पहुंचाता है। डॉक्टर्स के अनुसार कैंसर से डरें नहीं, क्योंकि अब कैंसर के लिए बेहतरीन इलाज की सुविधा उपलब्ध है।
लक्षण

ब्लड कैंसर से प्रभावित लोगों में बिना किसी कारण लंबे समय तक बुखार होना, फेफड़ों में संक्रमण, आंतों में संक्रमण, पेरिअनल इन्फेक्शन, ओरल कैविटी में इन्फेक्शन, असामान्य तरीके से मुंह, नाक या मसूड़ों से खून निकलना, त्वचा पर नीले या लाल चकते बनना, हीमोग्लोबिन कम होने के कारण, बहुत अधिक थकान या कमजोरी महसूस होना, हड्डियों में दर्द, शरीर में कहीं भी गले या पेट में गांठ बनना, लीवर-तिल्ली का साइज़ बढ़ जाना जैसे लक्षण आम हैं। कुछ महत्वपूर्ण जांच से ब्लड कैंसर का पता किया जा सकता है। प्रारंभिक चरण में ब्लड कैंसर की पुष्टि होने पर स्वस्थ होने की संभावना अधिक होती है।
उपचार

कुछ कैंसर का केवल दवाओं से इलाज किया जाता है। कुछ कैंसर के लिए सिर्फ इम्यूनोथेरेपी या कीमोथेरेपी दी जाती है, ब्लड, प्लेटलेट्स, स्टेम सेल का प्रत्यारोपण किया जाता है। कुछ कैंसर में रेडियोथेरेपी भी दी जाती है। अब कुछ टार्गेटेड मेडिसिन भी हैं, जो विशेष म्युटेशन को टारगेट करती हैं।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान हुए दंगे से 150 से अधिक लोगों की मौत, सैकड़ों घायलPune: नोएडा ट्विन टावर्स की तरह विस्फोटक लगाकर चांदनी चौक पुल को किया गया ध्वस्त, देखें VIDEOदिल्ली एम्स में अब ओपीडी में दिखाने के नहीं लगेंगे पैसे, ये टेस्ट भी होंगे फ्रीगांधी जयंती: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, पीएम मोदी, सोनिया गांधी सहित अन्य नेताओं ने बापू को दी श्रद्धांजलिगांधीवादी पीवी राजगोपाल का बड़ा सवाल, राष्ट्रीय पशु-पक्षी के लिए कानून, लेकिन राष्ट्रपिता के लिए क्यों नहींIND vs SA: दूसरा टी20 जीत इतिहास रचना चाहेगा भारत, जानें कब कहां और कैसे देखें मैचNavi Mumbai Building Collapsed: नवी मुंबई में चार मंजिला इमारत गिरी, एक की मौत, कई लोगों के दबे होने की आशंकाNo PUC - No Fuel: दिल्ली में इस दिन से बिना PUC के नहीं मिलेगा पेट्रोल, जानें क्या है नया नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.