निगम अब बनाएगा सभी फाइलों का मास्टर डाटा

नगर निगम में फाइल गायब होने पर अब पाबंदी लग सकेगी। जयपुर गे्रटर नगर निगम (Jaipur Greater Municipal Corporation) प्रशासन अब सभी फाइलों या पत्रावलियों को वार्ड वाइज संधारण करने के साथ इनका मास्टर डाटा तैयार (Master data of files) करेगा। इसके साथ ही हर पत्रावली अब फाइल ट्रेकिंग सिस्टम के माध्यम से ही आगे बढ़ेगी। इससे हर अधिकारी की जिम्मेदारी तय होगी, वही फाइल किस स्तर पर चल रही है।

By: Girraj Sharma

Published: 18 Jan 2021, 04:17 PM IST

निगम अब बनाएगा सभी फाइलों का मास्टर डाटा
- जयपुर ग्रेटर नगर निगम की तैयारी
- हर फाइल का स्थिति होगी ऑनलाइन
- सभी पत्रावलियां फाइल ट्रेकिंग सिस्टम के माध्यम से दर्ज होकर जाएगी आगे

जयपुर। नगर निगम में फाइल गायब होने पर अब पाबंदी लग सकेगी। जयपुर गे्रटर नगर निगम (Jaipur Greater Municipal Corporation) प्रशासन अब सभी फाइलों या पत्रावलियों को वार्ड वाइज संधारण करने के साथ इनका मास्टर डाटा तैयार (Master data of files) करेगा। इसके साथ ही हर पत्रावली अब फाइल ट्रेकिंग सिस्टम के माध्यम से ही आगे बढ़ेगी। इससे हर अधिकारी की जिम्मेदारी तय होगी, वही फाइल किस स्तर पर चल रही है, इसका आसानी से पता भी लगाया जा सकेगा। इसके लिए जयपुर ग्रेटर नगर निगम आयुक्त ने आदेश जारी कर दिए है।

जयपुर ग्रेटर नगर निगम प्रशासन ने अपनी सभी पत्रावलियों को वार्ड वाइज और कॉलोनी वाइज संधारित करने निर्णय के बाद अब सभी प्रत्रावलियों का मास्टर डाटा तैयार करने की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए जयपुर ग्रेटर आयुक्त यज्ञमित्र सिंह देव ने एक आदेश जारी कर सभी जोन उपायुक्तों को सभी पत्रावलियों का मास्टर डाटा तैयार करने के साथ उन्हें फाइल ट्रेकिंग सिस्टम से ही आगे भेजने के निर्देश जारी किए है।
यूं बढेगी फाइल आगे
- सभी पत्रावलियों को फाइल ट्रेकिंग सिस्टम में दर्ज कराकर आगे भेजी जाएगी।
- पत्रावलियों पर साफ-सुथरी होंगी, वहीं लिपिक व अधिकारी के हस्ताक्षर के नीचे पूरा नाम व पदनाम के साथ सील लगाकर आगे भेजी जाएगी। इसके साथ ही फाइल नंबर भी अंकित करना होगा।
- फाइल को ट्रेकिंग सिस्टम में दर्ज कराने के बाद ही आगे बढ़ाया जाएगा।

वार्ड वाइज पत्रावलियों का संधारण

नगर निगम प्रशासन अपनी सभी पत्रावलियों को वार्ड वाइज और कॉलोनी वाइज संधारित करेगा। नगर निगम प्रशासन 77000 पत्रावली को वार्ड वाइज और कॉलोनी वाइज संधारित करेगा। इसके लिए संयुक्त अभियान चलाया जाएगा। वहीं उपायुक्त आयोजना और राजस्व निगम क्षेत्र की सभी काॅलोनियों का रिकॅार्ड तैयार कर उन्हें काॅलोनी अनुसार संधारण करेंगे।

Girraj Sharma Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned