भाजपा ने निवर्तमान बोर्ड के 64 में से 57 पार्षदों के टिकट काटे

—विधायकों से ज्यादा संगठन के बताए नामों पर लगाई मुहर
—टिकट से वंचित कार्यकर्ताओं ने भाजपा मुख्यालय पर किया हंगामा
—एक सीट के लिए आज घोषित होगा उम्मीदवार

By: Umesh Sharma

Published: 18 Oct 2020, 11:16 PM IST

जयपुर।

दो दिन तक करीब 22 घंटे तक चली लंबी मंत्रणा और विधायकों के विरोध के बीच भाजपा ने रविवार रात को जयपुर शहर की दोनों नगर निगमों के 249 प्रत्याशियों की सूची जारी कर दी। हैरिटेज नगर निगम के वार्ड 63 से अभी उम्मीदवार फाइनल नहीं हो पाया है। टिकटों से साफ हो गया कि विधायकों से ज्यादा संगठन की ओर से सुझाए गए नामों को तरजीह दी गई है।

पार्टी ने निवर्तमान बोर्ड के 64 में से 57 पार्षदों के टिकट काट दिए। इसमें मालवीय नगर, सिविल लाइंस और बगरू से किसी भी निवर्तमान पार्षद को टिकट नहीं दिया गया है। इसके अलावा पार्टी ने नगर निगम हैरिटेज में 16 और ग्रेटर में एक सहित कुल 18 मुस्लिम प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारा है। वहीं टिकट से वंचित रहे टिकटार्थियों के समर्थकों ने भाजपा मुख्यालय के अंदर और बाहर जमकर हंगामा मचाया। देर रात कार्यकर्ताओं की समझाइश के लिए मालवीय नगर विधायक कालीचरण सराफ और सांगानेर विधायक अशोक लाहोटी प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे। दोनों नेताओं ने कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाया कि किसी के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा।

केवल सात पार्षदों को फिर मिला है टिकट

पार्टी ने निवर्तमान बोर्ड के 64 में से 57 पार्षदों के टिकट काट दिए। केवल आदर्श नगर में महेश कलवानी को दोबारा प्रत्याशी बनाया गया है। इसके अलावा सांगानेर में निवर्तमान पार्षद मुकेश लख्यानी की पत्नी और निवर्तमान पार्षद गीता शर्मा के पति को टिकट दिया गया है। विद्याधर नगर में दिनेश कांवट, कौशल शर्मा और भंवर सिंह को वापस पार्टी ने मैदान में उतारा है। वहीं झोटवाड़ा में मान पंडित, राखी राठौड़ और निर्मला कंवर को वापस पार्टी ने टिकट दिया है।

पूर्व महापौर धाभाई को भी फिर मैदान में उतारा

पार्टी ने पूर्व महापौर शील धाभाई को फिर मैदान में उतारा है। इस बार हैरिटेज और ग्रेटर दोनों नगर निगम में महापौर ओबीसी महिला कैटेगिरी का होगा। इसी तरह पूर्व उप महापौर मनीष पारीक भी एक बार फिर पार्षद का चुनाव लड़ रहे हैं। इनके अलावा पूर्व नगर निगम चेयरमैन दुर्गेश नंदिनी को भी पार्टी ने फिर टिकट दिया है।

पारीक के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले अग्रवाल को टिकट

विस चुनाव में हवामहल विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी सुरेंद्र पारीक के सामने भारत वाहिनी पार्टी से चुनाव लड़े विमल अग्रवाल को पार्टी ने वार्ड 22 से उम्मीदवार बनाया है। हालांकि अग्रवाल ने दोबारा पार्टी जॉइन कर ली थी। उधर हैरिटेज से महापौर की प्रबल दावेदार मानी जा रही निवर्तमान पार्षद कुसुम यादव को टिकट न मिलने से कार्यकर्ताओं नाराजगी जताई।

टिकट नहीं मिला तो गश खाकर गिरा

बगावत के डर से पार्टी चलाकर प्रत्याशियों की घोषणा में देरी कर रही थी। करीब 8.15 बजे पार्टी ने सूची जारी की। इस दौरान कुछ टिकटार्थी और उनके कार्यकर्ता भाजपा मुख्यालय में ही मौजूद थे। जैसे ही उन्हें टिकट कटने की सूचना मिली तो उन्होंने हंगाम खड़ा कर दिया। वार्ड 99 से दावेदार राजेंद्र शर्मा कार्यालय के भीतर ही फूट—फूटकर रोने लगे और गश खाकर गिर गए। उनके साथ वहां पहुंचे कार्यकर्ताओं ने पार्टी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और गंभीर आरोप भी लगाए। इस दौरान दावेदार गौरव तिवाड़ी के समर्थकों ने भी जमकर हंगामा मचाया और गाली—गलौच करने लगे। पार्टी कार्यालय में मौजूद पदाधिकारियों ने सभी को कार्यालय के बाहर निकाला। कार्यकर्ता आपस में उलझते भी नजर आए। इसके बाद स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और सभी को समझाया, लेकिन देर रात तक कार्यालय के बाहर हंगामा चलता रहा। इस दौरान कार्यालय के अंदर प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल, मदन दिलावर सहित कई नेता अंदर माैजूद थे। बताया जा रहा है कि टिकट वितरण में पार्टी से बनाए हुए नियमों को तोड़कर सामान्य वर्ग की सीट पर महिलाओं को टिकट दी। बाहरी व्यक्तियों को भी दूसरे वार्ड से टिकट देने से नाराजगी जाहिर की।

Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned