नहीं बजा 'गाड़ी वाला आया...', लोग करते रह गए इंतजार, कचरा संग्रहण करने वाली कंपनी हड़ताल पर

हैरिटेज में विवाद, खामियाजा भुगत रही ग्रेटर की जनता, निगम और कम्पनी की लड़ाई में जनता की चिंता नहीं, शहर की सड़कों पर लगे कचरे के ढेर

By: pushpendra shekhawat

Updated: 15 Sep 2021, 06:51 PM IST

जयपुर। घर—घर कचरा संग्रहण करने वाली कम्पनी बीवीजी के कर्मचारी एक बार फिर हड़ताल पर चले गए। बुधवार को 540 हूपरों में से 10 फीसदी हूपर ही सड़कों पर निकले। इन पर काम करने वाले कर्मचारी भी हड़ताल पर रहे। हैरिटेज नगर निगम की गलती की वजह से ग्रेटर की जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। आधे से ज्यादा शहर में लोग हूपर का इंतजार करते रहे।


दरअसल, मई से हैरिटेज नगर निगम ने कम्पनी को एक भी महीने का भुगतान नहीं किया है। जबकि, कम्पनी मई से अब तक 14 करोड़ रुपए से अधिक के बिल दे चुकी है। वहीं, कम्पनी के हूपर न आने से निगम के करीब 150 हूपर शहर के वीआईपी क्षेत्र में ही पहुंचे। हालांकि, बुधवार को हड़ताल होने के बाद निगम अधिकारियों और कम्पनी के कर्मचारियों के बीच कोई बैठक तक नहीं हुई।

इधर, शहर की सड़कों पर कचरा आना शुरू हो गया। शाम सड़कों पर कचरे के ढेर लग गए। गुरुवार को अवकाश होने की वजह से निगम नहीं खुलेगा। ऐसे में हड़ताल शुक्रवार से पहले खत्म होने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं।


जनता के हिस्से में परेशानी
भुगतान न होने से गाड़ियों पर काम करने वाले कर्मचारी हड़ताल पर चले जाते हैं। ऐसे में शहरवासियों के हिस्से में परेशानी आती है। जून में भुगतान को लेकर पूरे शहर में तीन दिन तक हड़ताल रही थी। स्वायत्त शासन विभाग के दखल के बाद इसे खत्म कराया था। सामान्य दिनों की बात करें तो वैसे भी शहर के एक तिहाई वार्डों में हूपर नहीं पहुंचते हैं।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned