Rajasthan Govt : क्या हुआ Sarkar तेरा वादा

Pawan kumar | Updated: 12 Oct 2019, 12:24:06 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

फिर पूरा नहीं होगा सरकारी वादा : इस दीपावली (Deepawali) नहीं मिलेगी दांतली आरओबी (ROB) की सौगात
99 करोड़ लागत वाले दांतली आरओबी का गोनेर साइड वाले हिस्से में काम बाकी
जेडीए (JDA) को अगस्त 2018 तक पूरा करना था निर्माण, सवा साल बाद भी अधूरा है आरओबी

राजस्थान में सरकार बदली, लेकिन बड़े प्रोजेक्ट्स के निर्माण को लेकर जयपुर विकास प्राधिकरण की चाल नहीं बदली। मामला जयपुर शहर (Jaipur City) के लोगों को जाम (JAM) से मुक्ति दिलाने के लिए बन रहे दांतली रेलवे ओवरब्रिज (आरओबी) से जुड़ा है। दांतली आरओबी का काम वर्ष 2016 में शुरू हुआ था, जो अगस्त 2018 तक पूरा होना था। जेडीए आरओबी निर्माण की डैडलाइन बार—बार बढ़ाता रहा, परंतु निर्माण कार्य अब तक पूरा नहीं हो पाया है। पूर्ववर्ती वसुंधरा राजे सरकार ने वर्ष 2018 की दीपावली से पहले दांतली आरओबी की सौगात देने का वादा किया था, जो पूरा नहीं हो पाया। इसके बाद प्रदेश में नई सरकार बनी तो नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने दीवाली तक दांतली आरओबी की सौगात देने की बात कही। लेकिन मौजूदा सरकार का ये वादा भी अधूरा रहने वाला है।

अब तक 80 फीसदी काम हुआ
जयपुर विकास प्राधिकरण जयपुर-दिल्ली रेललाइन (Jaipur-Delhi Railline) पर गांव के निकट दांतली सिक्स लेन ओवरब्रिज (Six lane ROB) बना रहा है। इस आरओबी की लम्बाई करीबन 800 मीटर है। इस पर 99 करोड़ रूपए की लागत अनुमानित है। जेडीए ने जब वर्ष 2016 में आरओबी का काम शुरू किया, तब इसकी डैडलाइन अगस्त 2018 तय की। लेकिन अगस्त 2018 तक जेडीए आरओबी का सिर्फ 40 फीसदी काम ही पूरा कर पाया। इसके बाद वर्ष 2018 में प्रदेश में सरकार बदल गई और नई सरकार के कार्यकाल में जेडीए ने अक्टूबर 2019 की नई डैडलाइन तय की। जेडीए प्रोजेक्ट्स की समीक्षा के दौरान नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने दीवाली तक जयपुर को दांतली आरओबी की सौगात देने की बात कही थी। लेकिन दीपावली आने में सिर्फ एक पखवाड़ा बाकी है, जबकि दांतली आरओबी का काम पूरा होने में अभी महीनों लगेंगे।

आवासन मंडल ने अटकाए थे रोड़े
दांतली आरओबी प्रोजेक्ट की लम्बाई करीब 800 मीटर है। आरओबी के जयपुर साइड के हिस्से में कुछ भूमि राजस्थान आवासन मंडल (Rajasthan Housing Board) की थी। जेडीए ने आरओबी निर्माण के लिए आवासन मंडल से जमीन की मांग की। इसके बाद महीनों तक जेडीए और आवासन मंडल के बीच जमीन को लेकर खींचतान चलती रही। जमीन को लेकर तकरार इतनी बढ़ गई कि तत्कालीन नगरीय विकास मंत्री को दखल देना पड़ा, तब जाकर हाउसिंग बोर्ड ने जमीन जेडीए को दी। इसके कारण करीब एक साल तक आरओबी का काम अटका रहा। अब आरओबी का गोनेर साइड में ढलान बनाने का काम बाकी है। इसका निर्माण करने में करीब 2 महीने का वक्त लगेगा। निर्माण कार्य पूरा होने पर भार क्षमता से जुड़े परीक्षण किए जाएंगे। इस पूरी प्रक्रिया में 4 से 5 महीने तक का समय लगेगा। यानी कि दांतली आरओबी दीवाली की बजाय होली तक ही पूरा हो पाएगा, वो भी तब जब जेडीए पूरी तेजी से काम हो।

जाम से मिलेगी मुक्ति
दांतली ओवरब्रिज बनने से नेशनल हाईवे-11 (NH-11) और नेशनल हाईवे-12 (NH-12) की कनेक्टिविटी बेहतर होगी। साथ ही जयपुर से गोनेर और दांतली की तरफ जाने वाले लोगों को बार—बार फाटक बंद होने से लगने वाले जाम से भी मुक्ति मिलेगी। जानकारी के अनुसार जयपुर—सवाई माधोपुर रेलवे लाइन पर रोजाना 50 से ज्यादा ट्रेनें गुजरती हैं। इसके कारण अक्सर फाटक बंद रहता है और लोगों को फाटक खुलने का इंतजार करना पड़ता है। आरओबी बनने के बाद लोगों को इससे राह मिलेगी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned