6 माह के मासूम को नहीं मिल पाया वेंटिलेटर, सिसक-सिसक कर पहुंचा मौत के आगोश में

जेके लोन अस्पताल का मामला: 6 माह के मासूम की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने लगाए इलाज में लापरवाही के आरोप

By: pushpendra shekhawat

Published: 03 Dec 2019, 07:20 PM IST

अविनाश बाकोलिया / जयपुर। जेके लोन अस्पताल ( JK Loan hospital ) में मंगलवार को 6 माह के मासूम की इलाज के दौरान मौत हो गई, जिस पर परिजनों ने जमकर हंगामा किया। परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है।

परिजनों का कहना है कि यदि उनके बच्चे को समय रहते वेंटिलेटर मिल जाता तो उनके बच्चे की मौत नहीं होती। अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार आगरा निवासी कन्हैया ने अपने छह माह के बेटे माधव को रविवार रात दो बजे भर्ती करवाया था। बच्चे को निमोनिया था। डॉक्टरों ने आइसीयू में शिफ्ट करने की बात कही थी।

परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर इलाज करने में देरी कर रहे थे। ऐसे में बच्चे की तबियत लगातार खराब होती जा रही थी। परिजनों ने अस्पताल अधीक्षक डॉ. अशोक गुप्ता को आइसीयू उपलब्ध करवाने के लिए फोन किया। अधीक्षक ने स्टाफ को आइसीयू में शिफ्ट करने के निर्देश दिए। इसके बावजूद भी स्टाफ ने आइसीयू में शिफ्ट नहीं किया। मंगलवार को बच्चे ने दम तोड़ दिया।

इनका कहना है
बच्चे को गंभीर हालात में यहां लाया गया था। परिजनों के सामने स्टाफ को आवश्यक निर्देश दिए थे। परिजनों से लिखित में शिकायत ली है। मामले की जांच की जा रही है। इसमें जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

- डॉ. अशोक गुप्ता, अधीक्षक, जेके लोन अस्पताल

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned