कारगिल विजय दिवस: इन मैसेजेस को भेजकर करें शहीदों को याद

कारगिल विजय दिवस: इन मैसेजेस को भेजकर करें शहीदों को याद

Santosh Kumar Trivedi | Updated: 26 Jul 2019, 12:39:17 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Kargil Vijay Diwas: करगिल युद्ध में देश की सरहद की चौकसी में प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों की गाथाएं जर्रे-जर्रे में गूंज रही हैं। आज उन्हीं वीर जवानों को एक बार फिर याद करें और इन मैसेजेस से कारगिल विजय दिवस की शुभकामनाएं दें।

जयपुर। Kargil Vijay Diwas - 1999 में करगिल की पहाड़ियों पर पाकिस्तानी घुसपैठियों ने कब्जा जमा लिया था, जिसके बाद भारतीय सेना ने उनके खिलाफ ऑपरेशन विजय चलाया। ऑपरेशन विजय 8 मई से शुरू होकर 26 जुलाई तक चला था। करगिल युद्ध में देश की सरहद की चौकसी में प्राणों की आहुति देने वाले शहीदों की गाथाएं जर्रे-जर्रे में गूंज रही हैं। आज उन्हीं वीर जवानों को एक बार फिर याद करें और इन मैसेजेस से कारगिल विजय दिवस की शुभकामनाएं दें।

 

Kargil Vijay Diwas

भारत माता तेरी गाथा
सबसे ऊंची तेरी शान
तेरे आगे शीश झुकाएं
दे तुझको हम सब सम्मान
भारत माता की जय

 

Kargil Vijay Diwas

मुझे तन चाहिए न धन चाहिए
बस अमन से भरा ये वतन चाहिए
जब तक जिंदा रहूं इस मात्रभूमि के लिए
और जब मरूं तो तिरंगा कफ़न चाहिए

Kargil Vijay Diwas

कुछ नशा तिरंगे की आन का है
कुछ नशा मात्रभूमि की शान का है
हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा
नशा ये हिंदुस्तान की शान का है

Kargil Vijay Diwas

उनके हौसले का भुगतान क्या करेगा कोई
उनकी शहादत का कर्ज़ देश पर उधार है
आप और हम इस लिए खुशहाल हैं क्योंकि
सीमा पर सैनिक शहादत को तैयार हैं

Kargil Vijay Diwas

आज सलाम है उन वीरों को
जिनके कारण ये दिन आता है
वो मां खुशनसीब होती है
बलिदान जिनके बच्चों का
देश के काम आता है

Kargil Vijay Diwas

मिलते नही जो हक वो लिए जाते हैं
है आजाद हम पर गुलाम किए जाते हैं
उन सिपाहियों को रात-दिन नमन करो
मौत के साए में जो जिए जाते हैं

Kargil Vijay Diwas

न सिर्फ जश्न मनाना, नहीं सिर्फ झंडे लहराना
ये काफी नहीं है वतन पर, यादों को नहीं भुलाना
जो कुर्बान हुए उनके लफ़्ज़ों को आगे बढ़ाना
खुद के लिए नही ज़िन्दगी वतन के लिए लुटाना

Kargil Vijay Diwas

हम अपने खून से लिखेंगे कहानी ऐ वतन मेरे
करे कुर्बान हंस कर ये जवानी ऐ वतन मेरे
दिली ख्वाइश नहीं कोई मगर ये इल्तजा बस है
हमारे हौसले पा जाये मानी ऐ वतन मेरे

Kargil Vijay Diwas

जब आंख खुले तो धरती हिन्दुस्तान की हो
जब आंख बंद हो तो यादें हिन्दुस्तान की हो
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन
मरते वक्त मिट्टी हिन्दुस्तान की हो

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned