कोरोना संक्रमण के बीच एनडीए की परीक्षा


दो पारियों में परीक्षा का आयोजन
जयपुर के 74 परीक्षा केंद्रों पर हुई परीक्षा

By: Rakhi Hajela

Published: 18 Apr 2021, 07:29 PM IST

जयपुर, 18 अप्रेल
कोविड (Covid) के तेजी से से फैलते संक्रमण के बीच रविवार को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी)की ओर से राजधानी जयपुर में एनडीए भर्ती परीक्षा (NDA Entrence Exam) का आयोजन किया गया। दो पारियों में परीक्षा जयपुर के 74 परीक्षा केंद्रों पर हुई। यूपीएससी (UPSC) ने कोविड गाइडलाइन (Covid Guidelines ) की पालना करते हुए परीक्षा का आयोजन करने के निर्देश दिए थे। पहली पारी की परीक्षा सुबह 10 बजे से 12.30 बजे के और दूसरी पारी की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 4.30 बजे तक आयोजित की गई। जिन परीक्षार्थियों को सर्दी.खांसी या कोविड.19 का कोई भी लक्षण है, उन्हें परीक्षा केंद्र में एंट्री नहीं दी गई।
उड़ी नियम की धज्जियां
परीक्षा केंद्रों पर कोविडगाइड लाइन्स के नियम हवा हो गए। राज्य के विभिन्न भागों से आए हुए परीक्षार्थियों ने यूपीएससी के निर्देशों के मुताबिक एक घंटा पहले ही परीक्षा केंद्र पहुंचना शुरू कर दिया। रूम और रोल नंबर चैक करने के लिए कई परीक्षा केंद्रों के मुख्यद्वार पर ही परीक्षार्थियों की भीड़ एकत्र हो गई, ऐसे में उन्हें रोकने वाला कोई नहीं था। गांधीनगर स्थित एक स्कूल में बनाए गए परीक्षा केंद्र पर मुख्य द्वार से उन्हें प्रवेश दिया जा रहा था जबकि साइड में बने एक छोटे से द्वार पर परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड चैक किए जा रहे थे नतीजा यह हुआ कि वहां परीक्षार्थियों की भीड़ एकत्र होने लगी और कोविड.19 नियम हवा हो गए। परीक्षा केंद्रों के अंदर अभ्यार्थियों के हाथों को सेनेटाइज किया गया और उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई उसके बाद उन्हें परीक्षा कक्ष में प्रवेश दिया गया। परीक्षा कक्ष में भी सामाजिक दूरी की पालना करते हुए अभ्यार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई थी। अभ्यार्थियों को अपने साथ सेनेटाइजर की शीशी लाने के निर्देश दिए गए थे। पहली पारी की परीक्षा सुबह 10 बजे से 12.30 बजे के और दूसरी पारी की परीक्षा दोपहर 2 बजे से 4.30 बजे तक आयोजित की गई।
इन पदों के लिए हुई परीक्षा
आर्मी, नेवी और एयरफोर्स में 400 पदों पर भर्ती के लिए ये परीक्षा हो रही है। इनमें एनडीए के लिए 370 उम्मीदवारों (आर्मी में 208, नेवी में 42,एयर फोर्स में 120) को लिया जाएगा और नेवल एकेडमी (10 प्लस 2 कैडेट एंट्री स्कीम) के लिए 30 उम्मीदवारों का चयन किया जाएगा।
ऐसे होगा सलेक्शन
परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यार्थियों को परीक्षा शुरू होने से एक घंटा पहले परीक्षा केंद्र पहुंचने के निर्देश दिए गए थे। आयोग के निर्देशों के मुताबिक परीक्षा शुरू होने से 10 मिनट पहले गेट बंद कर दिए गए। योग्य अभ्यर्थियों का चयन संघ लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित लिखित परीक्षा और सर्विस सलेक्शन बोर्ड के इंटेलिजेंस एंड पर्सनेलिटी टेस्ट से होगा। आज हो रही लिखित परीक्षा में पास होने वाले अभ्यार्थियों को ही एसएसबी के टेस्ट में शामिल होने का मौका मिलेगा। लिखित परीक्षा और एसएसबी इंटरव्यू दोनों 900-900 नंबर के होंगे।
परीक्षा स्थगित करने की लगाई थी गुहार
आपको बता दें कि कोविड के लगातार बढ़ते मामलों और विभिन्न राज्यों व स्थानीय प्रशासन की ओर से लगाए गए प्रतिबंधों और लॉकडाउन को देखते हुए अभ्यार्थियों ने परीक्षा स्थगित करने की गुहार लगाई थी। उनका कहना था कि जब विभिन्न बोर्ड परीक्षाओं, विश्वविद्यालयों की परीक्षाओं और प्रतियोगी परीक्षाओं को स्थगित या रद्द किया जा रहा है तो एनडीए एग्जाम 2021 को भी स्थगित किया जाना चाहिए। कई उम्मीदवारों का कहना था कि उनके लिए आवंटित परीक्षा केंद्र उनके निवास स्थान से काफी दूर हैं और लॉकडाउन के चलते परीक्षा केंद्र पहुंचना संभव नहीं है लेकिन यूपीएससी ने परीक्षा स्थगित नहीं की।
जारी किए गए स्पेशल पास
जिन उम्मीदवारों के क्षेत्र में वीकेंड लॉकडाउन लगा हुआ है, उनके लिए यूपीएससी एनडीए परीक्षा का प्रवेश पत्र ही कफ्र्यू पास बनाया गया था। अभ्यार्थियों को कहा गया था कि वह अपना प्रवेश पत्र दिखाकर परीक्षा केंद्र तक पहुंच सकते हैं।
इनका कहना है,
मैं जम्मू से परीक्षा देने आया हूं। यहां कफ्र्यू लगा हुआ है कोविड भी लगातार बढ़ रहा है। यूपीएससी को अभी परीक्षा नहीं करवानी चाहिए थे। हम डिमांड भी कर रहे थे लेकिन आयोग ने परीक्षा स्थगित नहीं की।
गुलशन, परीक्षार्थी
पिछले साल एनडीए का एग्जाम स्थगित किया गया था। ऐसे में जरूरी था कि इस बार समय से परीक्षा हो। यूपीएससी कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए एग्जाम करवा रहा है। मैं अजमेर से परीक्षा देने आया हूं। वहां से निकलने के दौरान कुछ परेशानी हुई लेकिन मैं समय से परीक्षा केंद्र तक आ गया।
अनूप, परीक्षार्थी
कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए परीक्षा का आयोजन करवाया गया है। परीक्षा कक्ष में परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था भी दो गज की दूरी के नियम को ध्यान में रखते हुए की गई है।

उर्मिला बारेठ, प्रिंसिपल,
शहीद अमित भारद्वाज राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned