ग्रामीणों ने सोचा नई एडीएम आईं हैं, बस.. एक के बाद सुनाने लगे शिकायत

ग्रामीणों ने सोचा नई एडीएम आईं हैं, बस.. एक के बाद सुनाने लगे शिकायत
ग्रामीणों ने सोचा नई एडीएम आईं हैं, बस.. एक के बाद सुनाने लगे शिकायत

Abhishek Vyas | Updated: 12 Oct 2019, 03:33:59 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

प्रशासन ने पांच बेटियों को दो घंटे के लिए कलेक्टर से लेकर एडीएम तक का कार्यभार सौंपा

जयपुर। क्या आपको नायक फिल्म याद है, जिसमें अमरीश पुरी अनिल कपूर को एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनने का ऑफर देता है। बस ऐसा ही कुछ हुआ जयपुर कलेक्ट्रेट में। विश्व बालिका दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन ने अनूठी नजीर पेश की। प्रशासन ने पांच बेटियों को दो घंटे के लिए कलेक्टर से लेकर एडीएम तक का कार्यभार सौंपा।

एडीएम द्वितीय का पद संभाले जैसे ही एलएलबी में पढऩे वाली भारती वर्मा चेेंबर में पहुंची। ज्ञापन देने के लिए बाहर कई संख्या में ग्रामीण मौजूद थे। ग्रामीणों ने भारती को वास्तव की एडीएम समझा और एक के बाद एक अपनी समस्या सुनाने लगे। इस दौरान एडीएम द्वितीय पुरूषोत्तम शर्मा मौजूद नहीं थे। इस पर भारती वर्मा ने ग्रामीणों को बुलाया और ज्ञापन लेकर समस्या जानी। नई एडीएम वर्मा ने ज्ञापन को मार्क कर आवश्यक कार्रवाई के लिए आगे निर्देशित किया। इस दौरान कई फाइलों को देखा।

इस खास कार्यक्रम में भारती मावर कलेक्टर, शादमा एडीएम प्रथम, कोमल गुप्ता एडीएम तृतीय और लक्षिता शर्मा ने एडीएम चतुर्थ की जिम्मेदारी निभाई। कलेक्टर बनी भारती ने स्कूलों में शिकायत पेटी लगाने के निर्देश दिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned