अब आरटीओ में तीसरी आंख से निगरानी की कवायद शुरू

सात परिवहन कार्यालयों में लगेंगे सीसीटीवी कैमरे
दलालों की आवाजाही बंद करनेे, काम में पारदर्शिता लाने के लिए उठाया जा रहा कदम

By: Amit Pareek

Published: 17 Jan 2021, 01:38 PM IST

जयपुर. आरटीओ कार्यालयों में दलालों की आवाजाही बंद करने और जनता के काम में पारदर्शिता लाने की कवायद शुरू हो रही है। जयपुर जिले के सात परिवहन कार्यालयों में सीसीटीवी कैमरे लगाने की तैयारी चल रही है। इनकी प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। ये कैमरे कार्यालयों में लाइसेंस, आरसी, परमिट, गुड्स सहित अन्य शाखाओं में लगाए जाएंगे। झालाना कार्यालय में कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। यहां जनता में कामों पर नजर रखी जाएगी। वहीं, दलालों पर पाबंदी की जाएगी। आरटीओ कार्यालयों में जनता से जुड़े कामों में भ्रष्टाचार की शिकायतें देखने को मिलती हंै। बाहरी लोगों और बाबुओं की मिलीभगत के कारण जनता की जेब काटी जाती है।

इन कार्यालयों में लगेंगे कैमरे
झालाना : जिले का मुख्य कार्यालय, यहां पर रोजाना दो हजार लोगों की आवाजाही होती है।

जगतपुरा : जगतपुरा में लाइसेंस, गुड्स, ट्रांसपोर्ट, पैसेंजर वाहन का काम किया जाता है। यहां एक हजार हजार लोग आते-जाते हैं।

विद्याधर नगर : यहां हर दिन बड़ी संख्या में लोगों की आवाजाही होती है। इसके अलावा जिले में दूदू, कोटपूतली, शाहपुरा, चौमूं परिवहन कार्यालयों में कैमरे लगेंगे।

यहां सुधार जरूरी

- आरटीओ कार्यालयों में हैल्प डेस्क की व्यवस्था हो, ताकि लोगों को काम में मदद की जा सके।
- आरटीओ कार्यालयों में बाबुओं के पास बाहरी लोग काम कर रहे हैं, जिनका कोई रेकॉर्ड नहीं है।
- आरटीओ कार्यालयों में बाहरी लोगों के प्रवेश पर कोई पाबंदी नहीं है, दलाल सीधे रेकॉर्ड रूम तक जा रहे हैं।
- आरटीओ कार्यालयों में अक्सर कर्मचारी समय पर नहीं आते, समय की पाबन्दी हो।

जिले में परिवहन कार्यालयों में काम कराने वाले लोगों को परेशानी नहीं हो, बिना डरे लोग ऑफिस आएं। इसी उद्देश्य से सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हंै। इससे स्टाफ की निगरानी की जा सकेगी।
राकेश शर्मा, आरटीओ जयपुर

Amit Pareek Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned