दूसरे हाथ से... छीनी राहत

दूसरे हाथ से... छीनी राहत

Shankar Sharma | Publish: Mar, 10 2015 12:43:00 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से पेश बजट में वैट में कमी स्वागत योग्य है, लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से पेश बजट में वैट में कमी स्वागत योग्य है, लेकिन इसका दूसरा पहलू यह भी है कि मनोरंजन टैक्स आदि बढ़ाकर इस राहत को अप्रत्यक्ष रूप से वापस ले लिया गया है।

बजट की खास बातें
मसालों पर वैट में राहत, अल्प व मध्यम आय वर्ग को फायदा
सरकारी नौकरियों की घोषणा नहीं की गई
जयपुर में बिजली की लाइनें साल भर में होंगी भूमिगत
पर्यटन क्षेत्र को मिली कई सौगातें


केन्द्र सरकार व बैंकिंग सेक्टर में रोजगार के अवसर को देखते हुए सरकार की इन परीक्षाओं की तैयारियों के लिए कोचिंग की पहल अच्छी है। अनुपम अग्रवाल, एलएलबी स्टूडेंट

स्टेट टूरिज्म पोर्टल से पर्यटन क्षेत्र में विकास होगा। सरकार के अधिकृत पोर्टल पर सभी जानकारियां मिलने से पर्यटकों को सुविधा होगी। अर्पित कुमार, सीए

बीसलपुर-जयपुर पेयजल परियोजना का विस्तार करने की घोषणा तो है, लेकिन सरकारी आपूर्ति से वंचित कॉलोनियों के बारे में कोई पहल नहीं की गई। ओमप्रकाश अग्रवाल, सेवानिवृत्त कर्मचारी

बेरोजगारों को सरकारी क्षेत्र में नौकरियों का इंतजार था, लेकिन निराशा हाथ लगी है। युवाओं के लिए बजट निराशाजनक है।
अनुज अग्रवाल, मैनेजमेंट स्टूडेंट

बजट में ओलम्पिक व एशियन गेम्स विजेताओं के लिए नगद पुरस्कार व नौकरी की घोषणा से खेलों के प्रति युवाओं का आकर्षण बढेगा। अर्पित अग्रवाल, बीटेक स्टूडेंट

ऊर्जा बचत के लिए एलईडी लाइट को बढ़ावा देने का फैसला अच्छा है। बिजली के सेन्ट्रलाइज कॉलसेन्टर से भी काफी मदद मिलेगी।
राजकुमारी, गृहिणी

बिजली के तारों को भूमिगत करने की घोषणा को धरातल पर लाने की जरूरत है। पहले भी कवायद शुरू हुई थी, लेकिन हुआ कुछ नहीं। सम्पत देवी, गृहिणी

वाई-फाई जोन बनाने की घोषणा स्वागत योग्य है। जिन इलाकों को इसके लिए चिन्हित किया गया है, वो शहर को देखते हुए कम है।सोनल, बी.कॉम स्टूडेंट

छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रेरित करने के अच्छे प्रयास किए हैं। ट्रांसपोर्ट वाउचर की घोषणा से बालिकाएं स्कूल जाने के लिए प्रोत्साहित होंगी। अनिल अग्रवाल, सेवानिवृत्त कर्मचारी

मनोरंजन कर में बढ़ोतरी कर जनता की जेब पर भार डाल दिया है। टिकट के दाम बढ़ने से फिल्म देखने जाने में भी कमी करनी होगी। सरला अग्रवाल, बीमा एजेंट

किसी ने बताया अच्छा तो कोई बोला सामान्य...


वैट को कम करने से मिलेगी राहत
काली मिर्च को वैट मुक्त करना सराहनीय कदम है। इसके अलावा अन्य वस्तुओं व मसालों पर भी वैट पांच फीसदी से घटाकर 2 फीसदी करने से भी लोगों को राहत मिलेगी।दिनेश जायसवाल, मसाला व्यवसायी

सभी तबकों के हित में है बजट
सरकार ने जो बजट पेश किया है, वह समाज के सभी तबकों के हित में है। सभी के लिए बजट में कोई न कोई सौगात है। इस बजट से सबका विकास निश्चित तौर पर होगा। सुनीता, सब्जी विक्रेता

निचले तबके के विकास को भुलाया
राज्य सरकार के दूसरे बजट से निम्न वर्ग को काफी आशाएं थी। पर सरकार ने निचले तबके के विकास को भुला ही दिया। पेट्रोल और गैस पर टैक्स कम करने से जनता खुश नहीं हो सकती। संजय, ऑटोचालक

और अधिक उम्मीद नहीं थी
पेट्रोल, डीजल व रोजमर्रा की वस्तुओं के दामों को और कम करके मध्यम व निम्न वर्ग को राहत दी जा सकती थी। सरकार से अधिक उम्मीदें भी नहीं थी।बद्रीनारायण, ठेला व्यापारी

आम आदमी को राहत अभी दूर
बजट सामान्य रहा, लेकिन आम आदमी को राहत अभी दूर है। भले ही प्रवेश कर कम होने से कई वस्तुओं के दाम कम हुए हो, लेकिन ग्राहकों को सीधे फायदा शायद ही मिलें। महावीर जैन, बैंक कर्मचारी

वृद्धों की पेंशन भी नहीं बढ़ाई
बजट बुजुर्गो के लिए बेहद निराशाजनक रहा। वृद्धों का एकमात्र सहारा पेंशन भी नहीं बढ़ाई गई और न ही कोई और सहायता दी गई।
आर.सी.सोनी, सेवानिवृत्त कर्मचारी

आईटी सेक्टर में रोजगार नहीं
आईटी सेक्टर में रोजगार से संबंधित कोई घोषणा नहीं की गई। जयपुर के युवाओं को आईटी कम्पनियों में जॉब के लिए शहर से बाहर ही जाना पड़ता है। कमल सैन, इंजीनियरिंग विद्यार्थी

विद्यार्थियों को कुछ नहीं मिला
आईटीआई को छोड़कर विद्यार्थियों को बजट में कुछ नहीं मिला। विद्यार्थी वर्ग को राज्य सरकार से बहुत उम्मीदें थी। सारी आशाएं मिट्टी में मिल गई। स्वाति खण्डेलवाल, शोद्यार्थी

पहले दाम बढ़ाए अब मामूली कमी
पहले तो सरकार ने पेट्रोल, गैस के दामों में भारी वृद्धि कर दी और अब बजट में टैक्स कम कर करके जनता को खुश नहीं कर सकती।
पूनम विजयवर्गीय, गृहिणी

आरोग्य राजस्थान की घोषणा अच्छी
बजट में आरोग्य राजस्थान अभियान की घोषणा अच्छी है। अभी सरकारी अस्पतालों में साफ-सफाई भी बड़ा मुद्दा था, उस पर ध्यान नहीं दिया गया।आकांक्षा मेहता, गृहिणी

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned