कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए तैयार नाटक को आइआरएस आॅफिसर्स ने मंच पर उतारा

कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए तैयार नाटक को आइआरएस आॅफिसर्स ने मंच पर उतारा

Aryan Sharma | Publish: Jul, 14 2018 01:30:28 AM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

देशभर के आइआरएस अफसरों ने साल में एक नाटक प्रस्तुत करने के लिए बनाया 'रंगीन चश्मे' ग्रुप, ट्रेनिंग के बाद पहला नाटक जयपुर में

जयपुर. रवीन्द्र मंच पर शुक्रवार को आइआरएस अधिकारियों के ग्रुप 'रंगीन चश्मे' के तहत नाटक 'स्पार्कलिंग सायनाइड' का मंचन हुआ। नाटक का कथानक जितना इंटरेस्टिंग था, उससे ज्यादा इस नाटक को तैयार करने में कलाकारों की भूमिका रही थी। इस नाटक के कलाकार देश के अलग-अलग शहरों में सहायक आयकर आयुक्त के पद पर कार्यरत हैं और पूरा नाटक तीन महीने की कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए तैयार किया गया है। भारतीय राजस्व सेवा के इन युवा अफसरों ने अपने डेडिकेशन के साथ इस नाटक को बड़ी रोचकता के साथ प्रस्तुत किया।

अगाथा क्रिस्टी के नॉवल 'स्पार्कलिंग सायनाइड' पर आधारित यह नाटक अपनी मिस्ट्री के लिए जाना जाता है। नाटक में दिखाया गया है कि एक शहर में एक पति और पत्नी बड़े प्यार से अपना जीवन गुजार रहे हैं और अचानक उस व्यक्ति की पत्नी की रहस्यमय मौत हो जाती है। पत्नी की मौत का इन्वेस्टिगेशन करते हुए उस व्यक्ति की भी मौत हो जाती है। इसके बाद पुलिस और उस व्यक्ति के दोस्त इस मिस्ट्री को सुलझाने में लग जाते हैं कि उन दोनों ने आत्महत्या की है या किसी ने मर्डर किया है।

एेसे होती थी रिहर्सल

ग्रुप की मेम्बर आकृति धरेन्द्र ने बताया कि 2017 में 'रंगीन चश्मे' ग्रुप को हमने राष्ट्रीय प्रत्यक्ष कर अकादमी नागपुर में आइआरएस की ट्रेनिंग के दौरान बनाया था और प्लानिंग की थी कि हर साल एक नाटक जरूर करेंगे। ट्रेनिंग के दौरान हमने 'आषाढ़ का एक दिन' और 'इंतजार' नाटक प्रस्तुत किए थे। जयपुर में हम पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर यह नाटक कर रहे हैं ताकि नाटक की कमियों को आगे के लिए सुधार सकें। ग्रुप के सदस्यों ने नाटक की रिहर्सल के लिए तय किया कि रोजाना 9.30 से 10.30 बजे तक कॉन्फ्रेंस कॉल के जरिए सभी नाटक की स्क्रिप्ट पर काम करेंगे। अपने काम और फैमिली टाइमिंग से समय निकालकर तय समय पर सभी मेम्बर नाटक की तैयारी में साथ निभाते। यहां तक कि कई बार कुछ मेम्बर रेड पर होने के बावजूद वहीं से रिहर्सल के लिए समय निकालते। ग्रुप मेम्बर अंकित और प्रियंका की शादी हाल ही में हुई थी और वे घूमने के लिए आइसलैंड गए थे। इस दौरान वे कॉन्फ्रेंस कॉल में शामिल नहीं हो पाते थे, लेकिन उस टाइमिंग ड्यूरेशन में ही नाटक के डायलॉग और लाइंस याद किया करते थे।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned