नकारात्मकता में भी छुपी है सकारात्मकता देखिए कार्टूनिस्ट सुधाकर सोनी का नजरिया

नकारात्मकता में भी छुपी है सकारात्मकता देखिए कार्टूनिस्ट सुधाकर सोनी का नजरिया

By: Sudhakar

Published: 07 Apr 2020, 11:50 PM IST

भारत में कोविड-19 के मरीजों की संख्या 4500 पार कर गई है. रोज सैकड़ों की तादाद में नये पॉजिटिव केस सामने आ रहे हैं . ऐसे में पॉजिटिव शब्द जो कि जो कि सामान्य दिनों में सुनने वाले को सकारात्मक एहसास दिलाता है वह भी आजकल डर का सबब बन गया है .वहीं दूसरी ओर इलाज के बाद स्वस्थ होने वाले मरीजों की रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो सुनकर सुकून मिलता है. क्योंकि मरीज की रिपोर्ट नेगेटिव आने का मतलब है कि वह इस बीमारी को मात देकर स्वस्थ हो गया है. इस तरह नेगेटिव और पॉजिटिव दोनों शब्दों में ही अपना मूल अर्थ खो दिया है और सुनने वालों को विपरीत भाव का एहसास दिला रहे हैं . डॉक्टरों का भी कहना है कि सकारात्मक सोच यानी पॉजिटिव थिंकिंग के बलबूते मरीज इस बीमारी से ज्यादा बेहतर ढंग से लड़ सकता है इसलिए देश के हित में यही है कि कोरोना वायरस के मामले में हमें ज्यादा से ज्यादा 'नेगेटिव' शब्द सुनने को मिले ताकि हम इस महामारी को हराने में सफल हो और देश में हर तरफ सकारात्मकता फैले. नकारात्मक शब्द के माध्यम से सकारात्मकता का एहसास कराता यह कार्टून देखिए जिसे बनाया है हमारे कार्टूनिस्ट सुधाकर सोनी ने

Sudhakar Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned