राजस्थान विधानसभा LIVE: जयपुर में विधानसभा की कार्यवाही कल 11 बजे तक के लिए स्थगित

Nakul Devarshi | Publish: Sep, 05 2018 10:02:01 AM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 12:06:50 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

जयपुर।

HIGHLIGHTS LIVE

- अनुपस्थित माणिक चंद सुराणा बीमार होने के कारण बैठक में नहीं आने की अनुमति मांगी
- बीच में ही बोले हनुमान बेनीवाल, हंगामा शुरू
- अध्यक्ष कह रहे हैं सभी को बैठने के लिए, 'पहला दिन है नहीं तो मुझे एक्शन लेना पडेगा'
- सदन में रखे जा रहे हैं विगत सत्रों में पारित हुए विधेयकों की जानकारी, संशोधन विधेयक भी हैं
- राजस्थान लोकायुक्त संशोधन अध्यादेश रखा कटारिया ने
- कृपलानी ने रखा जल प्रदाय व मलवहन बोर्ड अध्यादेश
- किरण माहेश्वरी ने रखा संस्कृत विश्ववालय संशोधन अध्यादेश
- राजपाल सिंह शेखावत ने पेश की भारत के नियंत्रक लेखा परीक्षक की रिपोर्ट
नियंत्रक परीक्षक की रिपोर्ट का प्रतिवदेन
नियंत्रक परीक्षक की रिपोर्ट का प्रतिवदेन
- अनुपूरक अनुदान मांगे रखी गई
- राजस्थान स्टांप संशोधन विधेयक रखा गया पुरस्थापित के लिए
- राजस्थान मूल्य परिर्वाित जीएसटी विधेयक किया पुरस्थापित
- राजस्थान माल व सेवा कर विधेयक संशोधन विधेयक 20ृ8 विधेयक रखा गया
- राजस्थान लोकायुक्त संशोधन विधेयक गृह मंत्री कटारिया ने किया पुरस्थापित किया
- लोकायुक्त संशोधन विधेयक किया गया पुरस्थापित
- लोकायुक्त व उपलोकायुक्त संशोधन भी सदन की मेज पर रखे
- राजेन्द्र राठौड—विधान सभा अधिकारी और कर्मचारी परिलब्यियां और पेंशन संशोधन विधेयक रखा
- राजस्थान पंचायती राज संशोधन विधेयक रखा गया
- पुरस्थापित भी किया राजेन्द्र राठौड ने
- श्रीचंद कृपलानी—जयपुर जल प्रदाय व मलवहन बोर्ड विधेयक पुरस्थापित
- राधा कष्णण विश्वविद्वालय संशोधन विदेयक रखा कालीचरण सराफ ने
- पुरस्थापित किया गया विधेयक को पुरस्थापित किया गया
- डॉ सर्वपल्ली आयुर्वेद विश्वविद्वालय विध्णयेक पुरस्थापित किया गया
- राजस्थान निजी विश्वविद्वालय विधियां संशोंधन विधियां विधेयक पुरस्थापित
- राजस्थान निजी विश्वविद्वालय विधियां संशोंधन विधियां विधेयक पुरस्थापित
- अनेक्स विश्वविद्वालय,श्याम विश्वविद्वालय लालसोठ स्थापना विध्ेयक पुरस्थापित
- चार नए विशविद्वालयों के विधेयक प्रस्तुत कर रही हैं उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी

 

राजस्थान में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले चौदहवीं विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है। हर बार की तरह इस बार भी सत्र के हंगामेदार रहने की पूरी संभावना है। विपक्ष सत्ता पक्ष को घेरने के लिए पूरा जोर लगाएगा। यह सत्र तीन दिन चल सकता है। माना जा रहा है कि चौदहवीं विधानसभा का यह अंतिम सत्र रहेगा।

 

सत्र के पहले दिन बुधवार को सदन में शोकाभिव्यक्ति होगी। इसमें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी समेत लोकसभा के अध्यक्ष रहे सोमनाथ चटर्जी, अन्य राज्य के दिवंगत हुए पूर्व मुख्यमंत्रिय़ों और राज्यपालो के अलावा मौजूदा विधानसभा के सदस्य रहे धर्मपाल चौधरी, पूर्व विधायक जगन सिंह, रामकिशन वर्मा समेत केरल और अन्य राज्यों में अतिवृष्टि के मृतकों को सदन में श्रद्धांजलि दी जाएगी।

 

इनको दिया जाएगा विधेयक का रूप
राज्य सरकार की ओर से पिछले दिनों पांच अध्यादेश जारी किए गए थे, जिनको सदन से पास करवा कर विधेयक का रूप दिय़ा जाएगा। इसमें राजस्थान लोकायुक्त, उपलोकाय़ुक्त संशोधन अध्यादेश, राजस्थान मूल्य संवर्धित संशोधन अध्यादेश, राजस्थान स्टाम्प संशोधन अध्य़ादेश, जयपुर वाटर सप्लाई एंड सीवरेज बोर्ड, संस्कृत विश्वविद्यालय संशोधन अध्यादेश को विधेयक के रूप में सदन से पास करवाया जाएगा लगभग एक दर्जन नए विधेयक सदन से पास होंगे।

 

कम से कम दस दिन चले सत्र
सूत्रों के मुताबिक विपक्ष इस सत्र के दौरान किसान, रोजगार समेत विभिन्न मुद्दों पर सरकार को घेर सकता है। विपक्ष यह भी मांग करेगा कि सत्र को तीन दिन की जगह कम से कम दस दिन चलाया जाए। नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी ने कहा कि किसान कर्जा माफी, किसान आत्महत्या पर सरकार को श्वेत पत्र लेकर आना चाहिए। अन्यथा मुख्यमंत्री को सदन में ही इस्तीफा दे देना चाहिए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned