राजस्थान चुनाव 2018: 28 कांग्रेस नेता पार्टी से 6 साल के लिए निष्कासित, इन नेताओं पर गिरी गाज

बागी होकर चुनाव लडऩे जा रहे कांग्रेस के 28 पूर्व मंत्रियों, पूर्व विधायकों एवं पार्टी पदाधिकारियों को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है।

By: kamlesh

Published: 25 Nov 2018, 09:40 PM IST

जयपुर। बागी होकर चुनाव लडऩे जा रहे कांग्रेस के 28 पूर्व मंत्रियों, पूर्व विधायकों एवं पार्टी पदाधिकारियों को 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। कांग्रेस ने नामांकन वापसी के बाद भी इन नेताओं को 3 दिन का समय दिया था। जिससे कि पार्टी उम्मीदवार को समर्थन देने का ऐलान कर सकें।

लेकिन उनके फिर भी नहीं मानने पर रविवार को प्रदेश प्रभारी व एआईसीसी महासचिव अविनाश पाण्डे और प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट के निर्देश पर 28 नेताओं को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया। गौरतलब है कि भाजपा ने गुरूवार देर रात 11 बागियों को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। इन 11 में चार मंत्री और दो विधायक भी शामिल थे।

इन नेताओं पर गिरी गाज
पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री और खण्डेला विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के बागी होकर चुनाव लडऩे जा रहे महादेव सिंह खण्डेला, पूर्व विधायक विधायक सोहन नायक, सी.एस.बैद, रमेश चन्द्र खण्डेलवाल, रमेश खिंची, रामकेश मीणा, नवल किशोर मीणा, नाथूराम सिनोदिया, खुशवीर सिंह जोजावर, संयम लोढ़ा का नाम शामिल है। इसके साथ ही पार्टी पदाधिकारियों में प्रदेश कांग्रेस सदस्य आेम विश्नोई, राजकुमार गौड, आलोक बेनीवाल, बाबूलाल नागर, लक्ष्मण मीणा, दीपचंद खैरिया, जगन्नाथ बुरड़क, राजेश कुमावत, भीमराज भाटी, सुनीता भाटी, जगदीश चौधरी का भी नाम शामिल है। इसी तरह बूंदी के जिला कांग्रेस अध्यक्ष सी.एल.प्रेमी, राजस्थान घुमंतू व अद्र्ध घुमंतू बोर्ड के पूर्व चेयरमैन गौपाल केसावत, संलंबूर प्रधान रेशमा मीणा, पूर्व जिला प्रमुख अजीत सिंह महुआ, सुजानगढ़ पंचायत समिति प्रधान संतोष मेघवाल, पूर्व विधानसभा प्रत्याशी 2013 पूसाराम गोदारा और पूर्व जिलाध्यक्ष पृथ्वीपाल सिंह संधू शामिल है।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned