राजस्थान: Corona संकटकाल के बीच Gehlot Cabinet विस्तार पर जानें Latest Update

Corona Pandemic की वजह से नेताओं के सियासी सपने भी फिलहाल लॉकडाउन Lock Down हो गए हैं। मार्च में Cabinet Expansion, Reshuffle की चर्चा जोरों पर थी, वहीं Political Appointments को लेकर भी घमासान मचा हुआ था। लेकिन अब Gehlot Government में भागीदारी का इंतजार और लम्बा हो गया है।

By: nakul

Updated: 28 May 2020, 08:40 AM IST

जयपुर-सीकर।

कोराना ( Corona Pandemic ) की वजह से नेताओं के सियासी सपने भी फिलहाल लॉकडाउन ( Lock Down ) हो गए हैं। मार्च में विधानसभा सत्र के बाद मंत्रिमण्डल विस्तार ( Cabinet Expansion, Reshuffle ) की चर्चा जोरों पर थी, वहीं राजनीतिक नियुक्तियों ( Political Appointments ) को लेकर भी घमासान मचा हुआ था। लेकिन अब सरकार ( Gehlot Government ) में भागीदारी का सपना पूरा करने के लिए सियासी दिग्गजों का इंतजार और लम्बा हो गया है। मंत्रिमंडल विस्तार में निर्दलीयों के अलावा बसपा से कांग्रेस में आए विधायकों के नाम भी चर्चा में थे।

कोरोना की वजह से संभाग, जिला व उपखंड स्तर पर गठित होने वाली समिति भी अब तक नहीं बन पा रही हैं। ऐसे में चुनाव के समय रात-दिन एक करने वाले कार्यकर्ताओं की उम्मीदों को भी झटका लगा है। तीन बड़े शहरों के छह नगर निगमों के अलावा पंचायत चुनाव भी अटके हुए हैं।

जो नियुक्तियां अटकी
- यूआइटी अध्यक्षों से लेकर विभिन्न बोर्ड व आयोगों में भी सरकार नियुक्ति नहीं कर सकी है। इनमें
आरटीडीसी चेयरमैन, हाउसिंग बोर्ड चेयरमैन और राजस्थान राज्य बीज निगम के अध्यक्ष की नियुक्तियों पर सभी की निगाहें हैं।

डेमेज कंट्रोल का बड़ा मौका
सरकार में नाराज नेताओं के लिए डेमेज कन्ट्रोल का बड़ा मौका मिल गया है। संगठन से लेकर सरकार में भागीदारी निभाने वाले कई नेताओं के कामकाज से आलाकमान पूरी तरह संतुष्ट नहीं था। ऐसे नेताओं को भी कोरोना की वजह से एक मौका और मिल गया है।

इधर, भाजपा कार्यकारिणी की तैयारी पूरी, जून में होगी घोषणा
लॉकडाउन के कारण तीन महीने से ठंडे बस्ते में गई प्रदेश भाजपा की कार्यकारिणी को अब जून माह में घोषित करने की तैयारी शुरू हो गई है। दरअसल, भाजपा में सतीश पूनिया के अध्यक्ष पद पर निर्वाचन के बाद से ही प्रदेश कार्यकारिणी के गठन को लेकर चर्चाएं चल रही हैं। फरवरी में नेतृत्व ने मार्च और अप्रेल के अंत तक कार्यकारिणी गठन के संकेत दिए थे। लेकिन मार्च में लॉकडाउन के बाद से ही देशभर में राजनीतिक गतिविधियां करीब ठप हो गई।

राष्ट्रीय नेतृत्व से मिल चुकी है हरी झंड़ी
जानकारी के मुताबिक भाजपा कार्यकारिणी को लेकर प्रदेश नेतृत्व को राष्ट्रीय नेतृत्व से हरी झंड़ी भी मिल चुकी है। इस पर प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं से रायशुमारी का काम भी मुख्यतया पूरा माना जा रहा है। 31 मई के बाद लॉकडाउन का चौथा चरण समाप्त होने के बाद कभी भी कार्यकारिणी सामने आ सकती है।


गौरतलब है कि प्रदेश में अशोक परनामी के अध्यक्ष कार्यकाल में कार्यकारिणी गठित हुई थी। उसके बाद मदनलाल सैनी के कार्यकाल में कुछ नियुक्तियां की गई थी, लेकिन पूरी कार्यकारिणी नहीं आई थी।

कार्यकारिणी के गठन पर हमारा काम करीब पूरा हो चुका है। राष्ट्रीय नेतृत्व से भी चर्चा हो चुकी है। जून में कार्यकारिणी की घोषणा करने की तैयारी है। - सतीश पूनिया, अध्यक्ष प्रदेश भाजपा

लॉकडाउन से पहले राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर काफी काम हो चुका है। जिला अध्यक्ष, प्रभारी मंत्री और संगठन की ओर से जिले का प्रभार संभाल रहे पदाधिकारी नामों को लेकर चर्चा कर चुके हैं। कुछ जिलों से नाम पीसीसी को मिल चुके हैं। पार्टी का शीर्ष नेतृत्व जल्द ही नियुक्तियों को लेकर घोषणा करेगा। - महेश शर्मा, संगठन महासचिव, प्रदेश कांग्रेस कमेटी

Show More
nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned