राजस्थान में चुनाव से पहले सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, आम आदमी के बाद अब सरकार ने दिया कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ाया महंगाई भत्ता

राजस्थान में चुनाव से पहले सरकार का दूसरा बड़ा फैसला, आम आदमी के बाद अब सरकार ने दिया कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ाया महंगाई भत्ता

rohit sharma | Publish: Sep, 10 2018 04:50:11 PM (IST) Jaipur, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news/

राजस्थान के चुनावी साल में एक के बाद एक घोषणाओं के बाद सरकार ने प्रदेश में एक और बड़ी घोषणा की है। राज्य सरकार के सोमवार को घोषणा करते हुए प्रदेश के कर्मचारियों को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने महंगाई भत्ता बढ़ाकर 7 फीसदी से 9 फीसदी कर दिया है। राजे सरकार का 24 घंटे के अंदर ये दूसरा बड़ा फैसला लिया है।

राजस्थान सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए महंगाई भत्ता दो प्रतिशत बढ़ा दिया है। अब कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 7 से बढकर 9 प्रतिशत बढ़ा हुआ मिलेगा। महंगाई भत्ते और महंगाई राहत दर में यह वृद्धि एक जुलाई, 2018 से लागू होगी. इस वृद्धि से राज्य सरकार के लगभग 7 लाख कर्मचारी और 3.5 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा।

 

READ : राजस्थान की जनता को बड़ी राहत, पेट्रोल और डीजल को लेकर सीएम राजे ने लिया बड़ा फैसला


बता दें कि रविवार शाम को एक सभा के दौरान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने घोषणा करते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों पर 4 फीसदी वैट कम किया था, जिससे तेल के दामों में ढाई रुपए तक की कमी आई है। इसी के बाद आम आदमी के बाद सोमवार को राज्य के कर्मचारियों को बड़ा तोहफा देते हुए सरकार ने महंगाई भत्ता बढ़ा कर बड़ी सौगात दी है।

 

READ : राजस्थान में पेट्रोल-डीजल कटौती की घोषणा के बाद, अब इस कीमत में मिलेगा तेल, नई दरें लागू

 

गौरतलब है कि राज्य के कर्मचारियों को इससे पहले महंगाई भत्ता 7 फीसदी मिलता था जो अब बढ़ाकर 9 फीसदी कर दिया है, सोमवार को आए इस फैसले के बाद कर्मचारियों में ख़ुशी का माहौल है। चुनावी वर्ष के चलते सरकार ने ये दूसरा बड़ा फैसला लिया है जो जनता के हित में है। कांग्रेस के भारत बंद के आह्वान के बाद सरकार ने दो दिनों में दो बड़े फैसले लेकर प्रदेश की जनता को खुश किया है। सरकार के दो बड़े फैसले लेने का कारण कांग्रेस का महंगाई के लिए विरोध करना और भारत बंद का आह्वान भी मान सकते हैं।

 

READ : पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने के बाद अशोक गहलोत का बड़ा बयान

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned