माता की पूजा पर कोरोना का साया, राजस्थान के इन मंदिरों में नहीं होंगे नवरात्रा में दर्शन

कोरोना ने रोके मां के दर्शन, अधिकांश मंदिर रहेंगे बंद, गिने-चुने मंदिर ही खुले रहेंगे, सोशल डिस्टेंसिंग व सेनेटाइजेशन के साथ ही होगा प्रवेश

By: pushpendra shekhawat

Published: 12 Apr 2021, 08:53 PM IST

जयपुर। कोरोना महामारी चैत्र नवरात्र में शक्ति की आराधना पर हावी रहेगी। राजस्थान में नवरात्र पर 13 से 21 अप्रेल तक प्रदेश के अधिकांश मंदिरों में श्रद्धालु माता के दर्शन नहीं कर पाएंगे। हालांकि इस दौरान गिने-चुने मंदिर खुले रहेंगे, लेकिन वहां पूर्ण सोशल डिस्टेंसिंग व सेनेटाइजेशन के साथ ही दर्शन हो पाएंगे।

जहां मंदिर बंद रहेंगे, वहां पुजारियों की ओर से पूजा अर्चना करवाई जाएगी। अन्य धार्मिक कार्यक्रम भी यथावत होंगे, लेकिन श्रद्धालुओं का प्रवेश नहीं होगा। कई मंदिरों के बाहर एलईडी लगाई गई हैं ताकि श्रद्धालु दूर से ही माता के दर्शन कर लें। पत्रिका ने लिया प्रदेश भर के मंदिरों का जायजा-

यहां प्रवेश नहीं, पुजारी कर सकेंगे पूजा-अर्चना

जयपुर: आमेर स्थित शिलामाता मन्दिर दर्शनार्थियों के लिए बंद रहेगा। मेला भी नहीं भरेगा। जमवारामगढ़ स्थित जमवाय माता मंदिर भी आम दर्शनार्थियों के लिए नवरात्र में बंद रहेगा। आमेर स्थित मंशा माता मंदिर में भक्तों को प्रवेश निषेध रहेगा। रामगढ़ बांध के पास स्थित प्रसिद्ध जमवाय माता मंदिर के पट मंगलवार से आगामी आदेश तक बंद रहेंगे।

जोधपुर के मेहरानगढ़ स्थित मां चामुण्डा का मंदिर, जैसलमेर के चमत्कारी तनोटराय मंदिर में, बीकानेर के देशनोक करणी माता मंदिर और नागणेचेजी मंदिर, चित्तौडगढ़़ के शक्तिपीठ झांतला माता, जोगणियां माता, आसावरा माता शक्तिपीठ, शाकंभरी माता मंदिर झुंझुनूं, मां जीण भवानी सीकर के पट बंद रहेंगे। वहीं कोटा के डाढ़ देवी व करनी माता मंदिर में श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं। हनुमानगढ़ के पल्लू स्थित मां ब्रह्माणी के एतिहासिक मंदिर में मेला नहीं भरेगा। नवरात्र पर मंदिर के कपाट बंद रहेंगे। नागौर के शाकंभरी माता मंदिर में मेले सहित सभी आयोजन निरस्त रहेंगे। जायल स्थित गोठ मांगलोद दधिमती माता मंदिर मे नवरात्रि मेला स्थगित, दर्शन भी बंद। उदयपुर: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के चलते उदयपुर में प्रशासन ने कोरोना गाइडलाइन के तहत धर्म स्थलों को 10 दिन के लिए बन्द कर दिया गया है।


यहां होंगे दर्शन

a6.jpg

जयपुर: दुर्गापुरा स्थित दुर्गा माता मंदिर, त्रिपोलिया गेट स्थित शिव शक्ति हनुमान मंदिर, सांगानेरी गेट स्थित मां काली मंदिर, रामगंज रुद्रघंटेश्वरी माता मंदिर व राजापार्क वैष्णोदेवी माता मंदिर में दर्शन कर सकेंगे।


प्रदेश में त्रिपुरा सुंदरी शक्तिपीठ (बांसवाड़ा), चौथ माता मंदिर (चौथ का बरवाड़ा), मुखर्जी नगर स्थित दुर्गा मंदिर (श्रीगंगानगर), जसोल स्थित माता राणी भटियाणी मंदिर (बाड़मेर), धनोप माता मंदिर (भीलवाड़ा), नौसर घाटी मंदिर (अजमेर) में श्रद्धालु कोरोना गाइडलाइन के अनुसार दर्शन कर सकेंगे।

pushpendra shekhawat Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned