सात माह से 21 लाख रुपए दबाए बैठा है यह विश्वविद्यालय, शिकायत करते—करते ​​थक गए छात्र

Savita Vyas | Publish: Nov, 03 2018 01:49:00 PM (IST) | Updated: Nov, 03 2018 01:49:01 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

राजस्थान विश्वविद्यालय में विज्ञान संकाय के करीब 50 से अधिक छात्र-छात्राओं को पिछले सात महीने से जेआरएफ (जूनियर रिसर्च फैलोशिप) नहीं मिली है।

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय में विज्ञान संकाय के करीब 50 से अधिक छात्र-छात्राओं को पिछले सात महीने से जेआरएफ (जूनियर रिसर्च फैलोशिप) नहीं मिली है। जबकि काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रीयल रिसर्च (सीएसआइआर) ने इन विद्यार्थियों की फैलोशिप के करीब 21 लाख रुपए विवि को कई माह पहले ही भेज दिए हैं। लेकिन विवि ने फैलोशिप उन्हें देने के बजाय अटकाए रखी है। इस संबंध में विद्यार्थी कई बार विवि के अधिकारियों को शिकायत भी कर चुके हैं। इसके बाद भी छात्रवृत्ति उन तक नहीं पहुंची।

गौरतलब है कि सीएसआइआर से जेआरएफ पास करने वाले विद्यार्थियों को शोध के लिए प्रतिमाह 25 हजार रुपए की छात्रवृत्ति दी जाती है। जिन्होंने बैंक खाते की जानकारी समय पर नहीं दी थी, उनकी छात्रवृत्ति ऑफलाइन ही दी गई। ऐसे विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति के 21 लाख रुपए मानव विकास संसाधन समूह की ओर से विवि को दे दिए गए थे। लेकिन विवि ने ये छात्रवृत्ति विद्यार्थियों को नहीं दी। इससे उनके शोध कार्य भी प्रभावित हो रहे हैं। उधर, विवि के अधिकारियों के अनुसार इन विद्यार्थियों की अभी तक की छात्रवृत्ति कुल मिलाकर 36 लाख रुपए बनती है। जबकि केंद्र सरकार से केवल 21 लाख रुपए का बजट आया है। ऐसे में विवि ने उन्हें शेष राशि का भुगतान करने के लिए भी लिखा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned