Rakshabandhan 2019 : भद्रा के दोष से मुक्‍त है इस बार राखी, बन रहे हैं ये खास संयोग

Rakshabandhan 2019 : भद्रा के दोष से मुक्‍त है इस बार राखी, बन रहे हैं ये खास संयोग

Pushpendra Singh Shekhawat | Updated: 09 Aug 2019, 08:11:29 PM (IST) Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

Rakshabandhan 2019 : 19 साल बाद गुरुवार को रक्षाबंधन और आजादी का पर्व एक साथ, नहीं होगा भद्रा का साया, सुबह से लेकर शाम तक बांधी जा सकेगी राखी

हर्षित जैन / जयपुर. बाजारों में इन दिनों रंग-बिरंगी रााखियां सजी हुई है। भाई और बहन के प्रेम का पर्व रक्षांबधन को आने में महज पांच दिन ओर हैं। ज्योतिषाचार्य पं.दामोदर प्रसाद शर्मा के मुताबिक इस बार राखी पर श्रावण शुक्ल पूर्णिमा गुरुवार, स्वाधीनता दिवस के साथ कई संयोग भी पर्व के बीच देखने को मिलेंगे। इसके साथ ही कई सालों बाद रक्षाबंधन पर भद्रा और पंचक का का साया नहीं होगा, जिससे बहनों को राखी बांधने के शुभ मुहूर्त को लेकर चिंता नहीं होगी। 19 साल बाद यानि सन् 2000 के बाद दोनों पर्व एक साथ मनाए जाएंगे।

 

यह योग हैं खास

 

Rakshabandhan 2019

ज्योतिषाचार्य पं.पुरुषोत्तम गौड़ ने बताया कि श्रावणी पूृर्णिमा पर सात साल बाद पंचांग के पांच अंगों की श्रेष्ठ स्थिति भी बन रही है। गुरुवार के दिन श्रवण, घनिष्ठा नक्षत्र, सौभाग्य योग, मकर राशि के चंद्रमा की साक्षी में यह पर्व मनाया जाएगा। बाजारों में त्योहार की रौनक देखते ही बन रही है। कार्टून से लेकर सोने, चांदी की राखियां बाजार में बिक रही है। बहनें भाई को तरह-तरह की राखियां और उपहार भेजना शुरू कर दिया है। यह पर्व भी इस दिन योगी अरविंद जयंती, मदर टेरेसा जयंती और संस्कृत दिवस भी इसी दिन आ रहे हैं। वहीं श्रावण का समापन भी इस दिन होगा।

 

राशि के अनुसार बांधें राखी

Rakshabandhan 2019

ज्योतिषाचार्य पं.पुरुषोत्तम गौड़ ने बताया कि शास्त्रानुसार मोली राखी और गुड़ शुभ माना जाता है। राशि के अनुसार भाई की कलाई पर अलग-अलग राखी बांधना भी अच्छा माना गया है, इसका फल भी शुभ होता है। थाली में रोली-मोली, हल्दी, केसर, चावल मिठाई, नारियल, राखी रखें। भद्रा नहीं होने से राखी सुबह सूर्योदय के बाद 6.02 बजे से शाम 5.59 बजे तक बांधी जा सकेगी। इसके बाद रात को भी बांधी जा सकती है।

 

किस राशि के लिए कौन से रंग की राखी शुभ

Rakshabandhan 2019

मेष : लाल, केसरिया और पीला रंग
वृश्चिक : गुलाबी, लाल और चमकीली राखी
वृषभ : सफेद, सिल्वर
तुला : हल्का नीला, सफेद और क्रीम
मिथुन : हरी या चंदन से बनी राखी
कन्या : सफेद रेशमी, हरे रंग की राखी
कर्क : सफेद रेशमी धागे या मोतियों से बनी राखी
सिंह : सुनहरा, पीला, गुलाबी रंग
कुंभ : रुद्राक्ष से बनी रखी और पीले रंग की राखी
धनु : रेशमी रंग
मीन : सुनहरा पीला
मकर : नीला या गहरा नीला रंग


यह हैं चौघडिय़ा

Rakshabandhan 2019

शुभ का चौघडिय़ा- सुबह 6.02 बजे से 7.39 बजे तक

चर, लाभ का चौघडिय़ा-सुबह 10.54 से दोपहर 1.30 बजे तक
अमृत का चौघडिय़ा-दोपहर 3 बजे से 3.46 बजे तक

शुभ का चौघडिय़ा- शाम 5.23 बजे शाम 7.01 बजे तक
अभिजित मुहूर्त- दोपहर 12.06 बजे से दोपहर 12.58 मिनट तक से बजे तक यह मुहूर्त सबसे अच्छा

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned