साथिनों के रिक्त पड़े पद, सरकारी योजनाएं हो रही ठप्प

रिक्त पदों पर 10 वीं पास महिलाओं की होगी भर्ती

By: Teena Bairagi

Published: 15 May 2018, 11:49 AM IST

साथिनों के रिक्त पड़े पद, सरकारी योजनाएं हो रही ठप्प

—जागरुक करने वाली साथिनों के पद रिक्त पड़े

—रिक्त पदों पर 10 वीं पास महिलाओं की होगी भर्ती

जयपुर

राज्य सरकार बेटी बचाओ—बेटी पढ़ाओं, पोषाहार वितरण, खिलौना बैंक, टीकाकरण, गर्भवती महिलाओं को संतुलित आहार लेने, समय पर टीका लगवाने, प्रसव पूर्व व प्रसव पश्चात बच्चे व खुद का ध्यान रखने के लिए आदि जागरुकता कार्यक्रम तो चला रही है। लेकिन इन योजनाओं का प्रचार करने वाली साथिनें ही सरकार के पास नहीं है। ऐसे में सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन भी ठप्प हो रहा है। जिलों में लगातार शिकायत मिलने के बाद अब विभाग ने इस पर चिंता जताई है और कुछ पंचायत समितियों में साथिनों के पद भरने का फैसला करते हुए आवेदन मांगे है।

विभाग की मानें तो इन योजनाओं के प्रचार—प्रसार के लिए गांवों में ग्राम साथिन की बहुत बड़ी भूमिका होती है। लेकिन प्रदेश के कई हिस्सों में इनकी कमी है। इसे पूरा करने के लिए ही अब कुछ पंचायतों में साथिनों को लगाया जाएगा। ताकि योजनाओं के क्रियान्वयन से जुड़े महत्वपूर्ण जागरुकता कार्यक्रम समय पर हो सके और योजनाओं को गति मिल सके। विभाग की ओर से 10 वीं पास महिलाओं से आवेदन मांगे गए है। ये आवेदन पाली, सोजत, रोहट, देसुरी, सुमेरपुर, बाली, मारवाड़ जंक्शन, रानी, रायपुर और जैतारण पंचायत समितियों के लिए मांगे है। साथिनों के काम पर यदि नजर डालें तो पांच से 10 गांवों में पड़ने वाले आंगनबाड़ी केंद्रों पर चलने वाली योजनाओं का प्रचार करने की जिम्मेदारी है इन पर। इसमें बच्चे व महिलाओं से जुड़ी सभी योजनाओं के प्रति घर—घर जाकर जानकारी देने से देकर उन्हें केंद्र तक लाने और स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति जागरुक करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। ऐसे में बड़ी संख्या में इन पदों का खाली रहना सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में रोड़ा है। विभाग ने इसे गंभीरता से लिया है और रिक्त पड़े पदों को भरने का फैसला किया है।

Teena Bairagi Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned