REET Exam: एक पद के लिए 53 में मुकाबला


आयु सीमा में छूट मिली
11520 अतिरिक्त आवेदन आए
रीट-2021 में 31 हजार पदों पर होगी भर्ती
16.51 लाख अभ्यार्थी देंगे परीक्षा

By: Rakhi Hajela

Published: 21 Jul 2021, 09:41 PM IST



जयपुर, 21 जुलाई
कई बार स्थगित हो चुकी रीट परीक्षा (REET Exam) में 31 हजार पदों पर भर्ती के लिए एक पद पर 53 अभ्यार्थियों के बीच मुकाबला होगा। 26 सितंबर को होने वाली इस परीक्षा के कुल 16 लाख 51 हजार 520 अभ्यार्थियों ने आवेदन किया है। इसमें वह आवेदन भी शामिल हैं जो ईडब्ल्यूएस अभ्यार्थियों को आयु सीमा में छूट देने के लिए अभ्यार्थियों ने किए हैं। आयु सीमा में छूट देने के बाद 11 हजार 520 अभ्यार्थियों ने आवेदन किए थे। इस बार रीट में ईडब्ल्यूएस वर्ग के 18 हजार 520 अभ्यार्थी शामिल होंगे।
31 हजार पदों के लिए होगी परीक्षा
प्रारंभिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग (Department of Elementary and Secondary Education) में तृतीय श्रेणी शिक्षक एल वन के कुल 1 लाख 49 हजार279 पद स्वीकृत हैं। इनमें से 1लाख24 हजार 450 पद भरे हैं, जबकि 24 हजार 829 पद खाली हैं। वहीं अध्यापक लेवल.2 में 1लाख 02 हजार 375 पद स्वीकृत हैं। इनमें से 79 हजार 989 पद भरे हुए हैं, जबकि 22 हजार 386 पद खाली हैं। रीट भर्ती होने सरकारी स्कूलों को 31 हजार शिक्षक मिलेंगे।
वेटेज में किया गया है बदलाव
रीट को लेकर एक बड़ा बदलाव किया गया है।राज्य सरकार ने अब अंकों के वेटेज में अभ्यर्थियों को राहत दी है। ऐसा कहा गया है कि रीट के फाइनल सलेक्शन में जहां 90 फीसदी परीक्षा में प्राप्तांकों का आधार रहेगा, तो वहीं स्नातक के अंकों का आधार 10 फीसदी कर दिया गया है। पहले फाइनल सलेक्शन में रीट परीक्षा के 70 फीसदी और स्नातक के 30 फीसदी अंकों के आधार पर चयन हुआ करता था। एनसीटीई की गाइडलाइन का पालन करते हुए राजस्थान के भूगोल और कला संस्कृति के सवालों को भी जोड़ा जाएगा। परीक्षा में राजस्थान का सामान्य ज्ञान जुडऩे से अभ्यर्थियों को अधिक से अधिक फायदा मिलेगा।
पास होने के लिए न्यूनतम अंकों में किया गया बदलाव
इस रीट परीक्षा में पास होने के लिए जो न्यूनतम अंक तय थे, उनमे भी बड़े बदलाव किए गए हैं। जब पिछली बार 2017 में यह परीक्षा हुई थी तो नॉन टीएसपी एसटी अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम 60 फीसदी अंक अर्जित करना अनिवार्य था। लेकिन अब इसमें 05 फीसदी की कमी कर दी गई है। इसे अलावा विधवा और ईएसएम वर्ग के लिए न्यूनतम अंक में 10फीसदी और दिव्यांग अभ्यर्थियों के लिए 20फीसदी अंक कम कर दिए हैं। जबकि एससी, ओबीसी,एमबीसी, इडब्लूएस वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए भी न्यूनतम अंकों में पांच फीसदी की कमी कर दी गई है।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned