प्रवासी श्रमिकों से संपर्क साधा रहा है संघ, रोजगार पर भी चर्चा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने प्रवासी श्रमिकों से संवाद स्थापित करना शुरू कर दिया है। इसके तहत प्रत्येक जिले में आए प्रवासियों का सर्वेक्षण कर उनसे व्यक्तिगत संवाद किया जा रहा है। साथ ही उनके रोजगार को लेकर भी बात की जा रही है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुरुवार को सम्पन्न हुई दक्षिणी पूर्वी राजस्थान की संघचालकों की बैठक में राजस्थान के संघचालक डॉ. रमेश ने यह बात कही।

By: Umesh Sharma

Published: 02 Jul 2020, 08:42 PM IST

जयपुर।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने प्रवासी श्रमिकों से संवाद स्थापित करना शुरू कर दिया है। इसके तहत प्रत्येक जिले में आए प्रवासियों का सर्वेक्षण कर उनसे व्यक्तिगत संवाद किया जा रहा है। साथ ही उनके रोजगार को लेकर भी बात की जा रही है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से गुरुवार को सम्पन्न हुई दक्षिणी पूर्वी राजस्थान की संघचालकों की बैठक में राजस्थान के संघचालक डॉ. रमेश ने यह बात कही।

उन्होंने कहा कि कोरोना काल में विषम परिस्थितियों में रेडजोन में जाकर भी स्वयंसेवकों ने सेवा कार्य किए हैं। उन्होंने वर्चुअल माध्यम से सामाजिक सद्भावना बैठकें कर समाज को एकजुट करने का निर्देश भी संघचालकों को दिए। आने वाली परिस्थितियों को देखते हुए चीन की सीमा पर हो रहे तनाव के लिए समाज को जागृत करने व किसी भी परिस्थितियों के लिए अपनी इकाई के स्वयंसेवकों को तैयार करने की बात भी कही।

पश्चिमी राजस्थान सीमा क्षेत्र के संघचालक ललित शर्मा ने सभी से सामाजिक एकजुटता बनाए रखने, देश में विभाजनकारी शक्तियों पर पैनी दृष्टि रखने व जागरूक रहने का आह्वान किया। भरतपुर से उत्तर पूर्व के संघचालक सरदार महेंद्र सिंह मग्गो ने स्वरोजगार व परामर्श के लिए दो वेबसाइट की जानकारी देते हुए सभी को स्वदेशी का संकल्प चित्तौड़ प्रांत के संघचालक एडवोकेट जगदीश राणा ने स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग करने व स्वावलम्बन के लिए जागृति लाने की आवश्यकता पर भी बल दिया।

Corona virus COVID-19 virus
Umesh Sharma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned