कोविड में रहीस भारती के जज्बे को सलाम, सात समंदर पार से थामा कलाकारों का हाथ

यूरोप में खुला लॉकडाउन, अब करेंगे परफॉर्म

300 परिवारों तक पहुंचाई राहत सामग्री

By: Rakhi Hajela

Updated: 26 May 2021, 05:58 PM IST


जयपुर, 26मई
कोरोना काल में हर जगह से डराने वाली ख़बर सामने आ रही हैं। ऐसे में कुछ ख़बरें सुकून देने वाली हैं। ख़बर यह है कि राजस्थान के कलाकारों की मदद के लिए धोद बैंड के विख्यात कलाकार रहीस भारती (Artist Rahees Bharti) ने अपना हाथ बढ़ाया है। दरअसल रहीस भारती इन दिनों यूरोप टूर पर हैं जहां पर वे अपने धोद बैंड के सदस्यों के साथ मिलकर राजस्थानी संगीत को ढाल बनाकर लोगों के स्ट्रेस को दूर करने का काम कर रहे हैं। जयपुर निवासी रहीस भारती को लॉकडाउन में सात समंदर पार से कलाकारों की आर्थिक स्थिति की चिंता सता रही है। जिसके चलते उन्होंने कलाकारों की हर संभव मदद करने का काम किया है। इतना ही नहीं यूरोप में लॉकडाउन खुल गया है ऐसे में अब बैंड फिर से वहां अपना जलवा दिखाएगा। आगामी चार महीनों तक होने वाले म्यूजिकल शोज में धोद बैंड परफॉर्म करेगा। कई शोज के टिकट की बुकिंग भी हो चुकी है।

रहीस भारती कहते हैं यह समय काफी कठिन है कोरोना की पहली लहर ने भी सभी को हिलाकर रख दिया था। इस बीच कलाकारों ने सबसे ज्यादा मुसीबत झेली। जिसके चलते ज्यादातर कलाकारों की पुश्तैनी कला पर ख़तरा मंडरा गया। ऐसे में कलाकारों का जीना मुहाल हो गया है। उनका कहना है कि अगर दिल में कुछ अच्छा करने की चाहत हो तो सात समंदर पार की दूरियां भी कम पड़ जाती हैं। रहीस ने यूरोप में रहते हुए राजस्थान के 300 परिवारों तक राहत सामग्री पहुंचाने का काम किया है। उन्होंने अपने दोस्तों के साथ कलाकारों तक खाद्य सामग्री के अलावा आर्थिक रूप से कमजोर कलाकारों को पैसे के जरिए मदद पहुंचाई है। धोद बैंड के मशहूर कलाकार व फाउंडर रहीस भारती ने पेरिस से फोन पर बताया कि उन्होंने जो कुछ किया वो इंसानियत के नाते किया है। यह ऐसा समय है जब इंसान को इंसान के ज्यादा काम आने की जरूरत है।

यूरोप में खुला लॉकडाउन, फिर से बजा धोद का डंका
कलाकार रहीस भारती ने बताया कि राजस्थान का सिरमौर धौद बैंड फिर से अपना जलवा दिखाने को बेताब है। राजस्थानी लोकधुनों से लबरेज बैंड के कलाकार इस कठिन समय में भी अपनी कला के जरिए कोरोना के स्ट्रेस को दूर करने के लिए काम कर रहे हैं। अब यूरोप में लॉकडाउन खुल गया है ऐसे में अगले चार माह तक वह फ्रांस में होने वाले म्यूजिकल शोज में अपनी परफॉर्मेंस देंगे। लॉकडाउन खुलने के बाद उनका एक कंसर्ट हो भी चुका है।
पेरिस के कई शहरों में होंगे म्यूजिक कंसर्ट
अब धोद बैंड जून में फ्रांस के कई शहरों में होने वाले म्यूजिक फेस्टिवल में राजस्थानी लोकसंगीत की धुन प्रस्तुत करेगा। इसके अलावा 25 व 26 जून को हॉलैंड म्यूजिक मुंडो फेस्टिवल में परफॉर्म करेगा। साथ ही जुलाई में पुर्तगाल और अगस्त में भी यूरोप के कई शहरों में आयोजित होने वाले म्यूजिक फेस्टिवल में अपनी राजस्थानी कला का प्रदर्शन करेगा। गौरतलब है कि रहीस भारती ने 20 सालों में अपने धोद बैंड के माध्यम से 110 देशों में करीब 1200 सौ से ज्यादा कार्यक्रम पेश किए हैं। रहीस भारती को विदेशों में राजस्थान की संस्कृति का राष्ट्रदूत कहा जाता है। उनके यूरोप टूर में उनके साथ में उनके पिता उस्ताद रपफीक मोहम्मद के अलावा मंजू सपेरा, पिंटू राणा, मोईनउद्दीन ख़ान, बंटी, तंवरलाल और कौशल राणा आदि कलाकार शामिल हैं।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned