कल से 6 जून तक सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में समर वेकेशन


शिक्षा विभाग ने जारी की गाइडलाइन
अलर्ट मोड में रहेंगे टीचर्स
कोविड संबंधी ड्यूटी करने वाले टीचर्स को मिलेगा उपार्जित अवकाश

By: Rakhi Hajela

Published: 21 Apr 2021, 05:42 PM IST



जयपुर, 21 अप्रेल
राज्य के सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों (government and non-government schools) में गुरुवार से समर वेकेशन होगा। शिक्षा विभाग (education Department) ने इस संबंध में गाइडलान जारी कर दी है। विभिन्न शिक्षक संगठन इस संबंध में मांग कर रहे थे। इस बार समर वेकेशन (Summer vacation) 22 अप्रेल से 6 जून तक होगा। इस दौरान टीचर्स को अलर्ट मोड में रहना होगा, उन्हें अपने मोबाइल ऑन रखने होंगे। अगर किसी इमरजेंसी में उन्हें जिला प्रशासन की ओर से कोई जिम्मेदारी दी जाती है तो उसकी पालना टीचर्स को करनी होगी।
मिलेगा उपाॢजत अवकाश
विभाग ने जो निर्देश दिए हैं उसके मुताबिक वह टीचर्स को कोविड संबंधी ड्यूटी कर रहे हैं उन्हें समर वेकेशन का फायदा लेने के लिए जिला कलेक्टर या एसडीएम से स्वीकृति लेनी होगी। समर वेकेशन के दौरान कोविड संबंधी ड्यूटी करने वाले टीचर्स को उपार्जित अवकाश दिया जाएगा। विभाग ने स्कूल के संस्था प्रधानों को भी यह अधिकार दिए हैं कि स्कूल के एजुकेशनल, एडमिशन और एग्जाम संबंधित काम के लिए स्टाफ को कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए बुला सकते हैं। ऐसे टीचर्स को भी समर वेकेशन में काम करने पर उपार्जित अवकाश दिया जाएगा।
स्टूडेंट्स को चुके हैं प्रमोट
गौरतलब है कि राज्य में कोविड 19 की दूसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार और शिक्षा विभाग ने सैकेंडरी और सीनियर सैकेंडरी के स्टूडेंट्स को छोडकऱ शेष सभी क्लासेज के स्टूडेंट्स को प्रमोट कर दिया है। हर साल शिक्षा सत्र में स्कूली क्लास के एग्जाम्स के बाद समर वेकेशन होता है लेकिन इस बार नए सेशन की शुरुआत और समर वेकेशन को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई थी। शिक्षा निदेशालय ने इस संबंध में निर्देश नहीं दिए थे ऐसे में विभिन्न शिक्षक संगठन समर वेकेशन घोषित करने की मांग कर रहे थे। शिक्षक संगठनों की मांग को देखते हुए शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बुधवार को ही विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि समर वेकेशन के आदेश जल्द जारी किए जाएं।
दिल्ली और हरियाणा के स्कूलों में समर वेकेशन
कोविड के कारण फिलहाल सभी स्कूलों को 3 मई तक बंद किया गया है लेकिन टीचर्स को मुख्यालय छोडऩे की अनुमति नहीं मिली, जिसके कारण अपने गृह जिले से अन्य जगह पदस्थापित शिक्षकों को वहीं रहना पड़ रहा था, जिन्हें अब राहत मिल सकेगी। उधर, दिल्ली सरकार ने स्कूलों में 20 अप्रैल से 9 जून व हरियाणा की सरकारी स्कूलों में 22 अप्रैल से 31 मई तक ग्रीष्मावकाश घोषित कर दिया है। इसको लेकर शिक्षक संघ रेसटा और राजस्थान प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षक संघ ने राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राज्य की वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए निर्धारित तिथियों से पहले समर वेकेशन घोषित करने की मांग की थी।
45 दिन का होता है वेकेशन
गौरतलब है कि राज्य के स्कूलों में बोर्ड एग्जाम और होम एग्जाम के बाद मई जून में करीब 45 दिन के समर वेकेशन किए जाते हैं। समर वेकेशन 16 मई से शुरू होते हैं जो कि जून के अंतिम सप्ताह तक चलते हैं।
.........................
इनका कहना है
राज्य में कोविड के बढ़ते हुए में प्रकोप को देखते हुए व दिल्ली सरकार की तर्ज पर राज्य सरकार ने भी समर वेकेशन की घोषणा की है। परिस्थितियों के मुताबिक नया सत्र अभी शुरू नहीं होना है। इस निर्णय से आवश्यकता अनुसार शिक्षकों से कार्य लिया जाकर शेष के लिए ग्रीष्मावकाश कर असमंजसता को दूर किया जा सकता है।
मोहरसिंह सलावद, प्रदेशाध्यक्ष, शिक्षक संघ रेसटा राजस्थान।
कोविड को देखते हुए जो हालात चल रहे हैं उसे देखकर साफ है कि मई से नया सेशन शुरू नहीं हो पाएगा, ऐसे में विभाग ने समर वेकेशन घोषित कर शिक्षकों को राहत दी है।
शशि भूषण शर्मा, प्रदेशाध्यक्ष, राजस्थान प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षक संघ
इस बार सरकारी स्कूलों में समर ब्रेक जल्दी होंगे। विभाग ने गाइडलाइन जारी कर दी है। 22 अप्रेल से 6 जून तक सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों में समर ब्रेक रहेगा।
सौरभ स्वामी,निदेशक, शिक्षा।

Rakhi Hajela Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned