30 दिन गैर हाजिर तो स्कूल टीचर घर पहुंचेंगे और करेंगे ये काम...

Arvind Palawat

Updated: 21 Oct 2019, 08:18:10 PM (IST)

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India
1/2

जयपुर। कई बार यह देखने में आता है कि विद्यार्थी बिना किसी सूचना के कई दिनों तक स्कूल ( Student Absent From School Without Information ) नहीं आते है। ऐसे में उनकी अटेंडेंस भी कम हो जाती है। लेकिन, अब यदि कोई स्टूडेंट 30 दिन तक स्कूल नहीं आता है तो स्कूल टीचर या स्कूल से जुड़ा अधिकारी विद्यार्थी के घर जाएगा और परिजनों से स्कूल नहीं पहुंचने का कारण पता लगाएगा। इससे स्कूलों में नामांकन बढऩे के साथ ही ड्रॉप आउट कम हो सकता है। यह बात सोमवार को जयपुर कलक्टर जगरूप सिंह यादव ने जिला कलेक्ट्रेट में राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद की विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते हुए जिला स्तरीय निष्पादन समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही।

अध्यापक कर सकते है सर्वांगीण विकास
यादव ने कहा कि सरकारी अध्यापक यदि ठान लें तो वे अधिक सक्षम तरीके से अपने विद्यर्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए काम कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि वास्तविक शिक्षा वही है, जो विद्यार्थी के मस्तिष्क को क्रिटिकल थिंकिंग, इनोवेशन, कम्यूनिकेशन एवं कॉलेब्रेशन की ओर दिशा दें। उन्होंने कहा कि विद्यालयों होने वाली बालसभाएं भी बच्चों में कम्यूनिकेशन एवं कॉलेब्रेशन की भावना के विकास के लिए एक अच्छा माध्यम हैं। उन्होंने कहा कि वे खुद बालसभा में गए हैं और जिला प्रशासन के अन्य अधिकारियों को भी इन बालसभाओं में जाना चाहिए।

औपचारिक के साथ अनौपचारिक शिक्षा का महत्व
कलक्टर ने कहा कि आज की शिक्षा व्यवस्था में औपचारिक के साथ ही अनौपचारिक शिक्षा का भी काफी महत्व है, क्योंकि तकनीक ने इसके लिए कई साधन दिए हैं। उन्होंने पायलट प्रोजेक्ट के रूप में 60 स्कूलों में लगाए गए नॉलेज बॉक्स 'उत्कर्ष' का जिक्र करते हुए कहा कि अच्छा रेस्पोंस आने पर इसे और अधिक स्कूलों में लागू किया जाएगा। गौरतलब है कि इस डिवाइस में स्कूली पाठ्यक्रम के अलावा ज्ञान की विधाओं की जानकारी समाहित है। यादव ने कहा कि स्कूलों में सेनेटरी पैड के लिए मशीन लगाने के लिए कुछ संस्थाएं आगे आई हैं और कॉर्पोरेट सोश्यल रेस्पांसिबिलिटी (सीएसआर) में इसके लिए प्रयास किए जाएंगे।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned