यूजीसी ने विश्वविद्यालयों को भेजा पत्र, कहा फीस के लिए दवाब न बनाएं

यूजीसी को पोर्टल पर मिली फीस के संबंध में कई शिकायत, यूजीसी ने विद्यार्थियों को दी राहत

By: MOHIT SHARMA

Updated: 03 Jun 2020, 03:41 PM IST

जयपुर। लॉकडाउन के बीच फीस जमा करने जैसे दबावों को झेल रहे विद्यार्थियों और अभिभावकों को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने बड़ी राहत दी है। यूजीसी ने हाल ही एक नोटिस जारी कर विश्वविद्यालयों और कॉलेजों से कहा है कि वह मौजूदा परिस्थितियों में किसी भी विद्यार्थी या अभिभावक पर फीस जमा करने का दबाव न बनाए। कॉलेज और विश्वविद्यालय विद्यार्थियों को ऐसा विकल्प दें, जिसमें वह स्थितियों के सामान्य होने पर फीस जमा करा सके। यूजीसी ने यह भी कहा है कि फीस जमा नहीं करा सके विद्यार्थियों को परीक्षाओं में शामिल होने से रोका नहीं जाए। विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की एक जुलाई से परीक्षाएं होनी हैं। ऐसे में यूजीसी को शिकायतें मिली हैं कि कई विश्वविद्यालय और कॉलेज वार्षिक, सेमेस्टर ट्यूशन शुल्क, परीक्षा शुल्क आदि के लिए विद्यार्थियों पर जोर दे रहे हैं।

गौरतलब है कि यूजीसी ने यह निर्देश पोर्टल पर मिली शिकायतों के बाद जारी किए हैं, जिससे विद्यार्थियों को राहत मिल सके। कई मामले ऐसे भी सामने आएं हैं, जिसमें फीस जमा नहीं कराने पर विद्यार्थियों को परीक्षा में नहीं बैठाने की भी कॉलेज और विश्वविद्यालयों ने धमकी दी है। यूजीसी के सचिव प्रो.रजनीश जैन ने सभी विश्वविद्यालय के कुलपति और कालेजों के प्राचार्यो को पत्र लिखकर इन मामलों को तरीके से हल करने को कहा है।

COVID-19
MOHIT SHARMA Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned