Jaisalmer- खरीफ की फसल जली, रबी के लिए भी नहीं मिल रहा बारीबन्दी का पानी!

- किसानों को झेलनी पड़ रही परेशानी

By: jitendra changani

Published: 11 Oct 2017, 11:21 PM IST

जैसलमेर(रामगढ़). नहर से पर्याप्त पानी नहीं मिलने से कई किसानों के खरीफ की फसल सूख गई। अब रबी की सीजन शुरू होने के बाद कई किसानों की बारी चल रही है, लेकिन अभी तक पानी नहीं छोड़ा गया है। ऐसे में उनके चेहरे पर चिंता के भाव उभर रहे हैं।
किसानों का कहना है कि खरीफ फसल के दौरान चारों बारियों में एक बार भी नहरों में सिंचाई का पानी नहीं छोड़ा गया। बारिश होने पर किसानों ने ग्वार, मूंग, तिल आदि की बुआई की थी उसके बाद थोड़ी बहुत बारिश होने पर फसलों को जीवनदान मिला, लेकिन नहरों में पानी नहीं होने से फसलें नष्ट हो गई। जिम्मेदारों की उदासीनता के चलते रामगढ़ की नहरों में बारीबंदी का पानी भी नहीं छोड़ा जा रहा है। पानी के अभाव में फसल बिजाई नहीं हो पा रही है और किसान परेशान हैं।

इन दिनों 190 से 314 आरडी की चल रही बारी
नहरी क्षेत्र में इन दिनों 190 से 314 आरडी की समस्त सीधी नहरों की बारी चल रही है, लेकिन मुख्य नहर में पानी नहीं है। किसानों ने बताया कि रामगढ़ की नहरों की बारी सात अक्टूबर से प्रारम्भ हुई थी, लेकिन दो दिन पानी चलने के बाद बन्द हो गया। इस संबंध में नहरी अधिकारी संतोष जनक जवाब भी नहीं दे रहे हैं। रामगढ़ पाइप माइनर के किसानों ने अधिशासी अभियंता को ज्ञापन सौंप माइनर में सिंचाई का पानी प्रवाहित करने की मांग की। किसानों ने बताया कि कई स्थानों पर मोगों को बड़ा किया गया है। इससे अंतिम छोर तक पानी नहीं पहुंच रहा है। किसान ने अवैध मोगों को सही कर राहत देने की गुहार लगाई।
पानी चोरी व अवैध खेती बनी परेशानी
किसानों की परेशानी ओर नहरी अधिकारियों के साथ जनप्रतिनिधि भी ध्यान नहीं दे रहे हैं। कई किसानों ने नहरों में छोड़े पीने के पानी को चुराकर सिंचाई कर ली और अंतिम छोर के किसान पीने के पानी को भी तरस रहे हैं।

jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned