JAISALMER NEWS- छ: माह की बच्ची गर्मी में तड़पती रही, परिजन मेले में करते रहे...

बच्ची को गाड़ी में लावारिश छोड़ गए मॉं-बाबा

By: jitendra changani

Updated: 28 Mar 2018, 06:44 PM IST

रामदेवरा दर्शन करने आए परिजन मेला देखने में व्यस्त, बच्ची के रो-रोकर हुए बुरे हाल
रामदेवरा (जैसलमेर). जहां आस्था और भक्ति बुलाये बोलती है, ऐसे माहौल में दूधमुंही बच्ची के रो-रोकर बुरे हॉल हो गए, लेकिन उसे पुचकारने वाली मॉं और दुलारने वाले पिता मेले में व्यस्त थे और वह बंद बॉडी की गाडी में तड़प रही थी। पार्किग में खड़े वाहन से बच्ची के रोने की आवाज सुनी तो पार्किंग व्यवस्था देखने वाले का ध्यान गया और उसने वाहन के पास जाकर देखा तो बच्ची अकेली थी और रो रही थी। पार्किंग व्यवस्थापक भोमसिंह व मांगूसिंह ने लावारिश बच्ची होने की सूचना पुलिस को दी तो पुलिस ने वाहन का कांच खुलवाकर बच्ची को बाहर निकाला और उसे हवा में सुलाकर श्रद्धालुओं की मदद से देखभाल शुरू की। तभी मासूम बच्ची के माता-पिता भी वहां पहुंच गए और बच्ची को अपने आंचल में छिपा लिया।
बाड़मेर से दर्शन करने आए थे
पुलिस के अनुसार बच्ची के रिश्तेदार बुधवार को बाड़मेर जिले के धोरीमना से रामदेवरा के दर्शन करने आए थे। रोहिला गांव निवासी गंगाराम मेघवाल ने बताया कि वह पत्नी व परिवार के साथ दर्शन करने यहां आए थे और बाबा के दर्शन करने के लिए बच्ची को सुलाकर गए थे, लेकिन उनके आने तक बच्ची जाग गई और उन्हें पास ना पाकर रोने लगी। उसने बच्ची को संभालने के लिए पुलिस व श्रद्धालुओं का आभार व्यक्त किया।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

मुर्छित हुई बच्ची
पुलिस के अनुसार पार्किंग में खड़े वाहन में लावारिश हालात में मिली छ: महिने की बच्चे रो-रोकर कमजोर पड़ गई और उसके मुर्छा छाने लगी। गर्मी तेज होने से बच्ची की तबियत बिगड़ गई, लेकिन समय पर हवा पानी मिलने और मॉं आने पर उसकी तबियत में सुधार हुआ।
लारवाही पर फटकार
पुलिस ने मासूम बच्ची को वाहन में छोडऩे की लापरवाही करने पर बच्ची के पिता को फटकार लगाई और उन्हें भविष्य में ऐसी लापरवाही नहीं बरतने के लिए लिए पाबंद किया।
इन्होंने बच्ची को निकाला बाहर
मुख्य आरक्षक प्रवीणसिंह व कांस्टेबल जय शर्मा पार्किंग व्यवस्थापकों की सूचना पर मौके पर पहुंचे और बंद गाड़ी के कांच को खुलवाकर बाहर निकाला और अन्य श्रद्धालुओं के सहयोग से बच्ची को पानी व दूध पिलाया। इसके बाद वाहन के ड्राइवर व बच्ची के माँ पिता को ढूंढ कर लेकर आए। पुलिस ने सभी रिश्तेदारों बच्ची को परिजनों को सुपुर्द किया। पुलिस व वाहन पार्किंग मालिक के आपसी सूझबूझ व् तालमेल से छ: माह की मासूम बच्ची की जान बच गई।

Show More
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned