Video Jaisalmer- शौच के काम आ रहा 14 लाख का मैरिज हॉल!

- जगह-जगह बिखरी है शराब की बोतलें, आवारा पशुओं का डेरा
- शिकायत पर अधिकारियों ने मौका देखा, नहीं की कार्रवाई

By: jitendra changani

Published: 01 Sep 2017, 01:19 PM IST


जैसलमेर . शहर के गफूर भ_ा में करीब 6 साल पहले 14 लाख की लागत से बना मैरिज हॉल अब खुले में शौच जाने वालों के काम आ रहा है। सुबह-सुबह कई लोग यहां हल्का होने आते हैं, वहीं शाम को कई समाज कंटक शराब पीने के लिए इक_े हो जाते हैं।
मजे की बात तो यह है कि इस हॉल का नगर परिषद ने अब तक एक बार भी उपयोग नहीं किया गया है।
यह था उद्देश्य
यह हाल नगर परिषद ने शादी व अन्य समारोह के दौरान लोगों को वाजिब दाम पर उपलब्ध करवाने के लिए बनाया था। वहीं महंगाई को ध्यान में रखते हुए जरूरतमंदों को नि:शुल्क मुहैया करवाने की योजना थी।

अब, बिखरी हैं शराब की बोतलें, भवन जर्जर
लाखों की लागत से बना मैरिज हॉल अब दुर्दशा का शिकार है। परिसर में चारों ओर गंदगी पसरी है। जगह-जगह शराब की बोतलें और कांच के टुकड़े बिखरे हुए हैं। दिनभर आवारा पशु विचरण करते रहते हैं। वहीं कंटीली झाडिय़ों ने घेर लिया है।
सूखे टांके में पड़े हैं पत्थर
भवन में बना पानी का टांका सूख गया है। ढक्कन नहीं होने से समाज कंटकों ने इसमें शराब की बोतलें और पत्थर डाल दिए हैं। इससे यह क्षतिग्रस्त हो गया है।
दरवाजे टूटे, चोरी हो गया सामान
भवन की सार-संभाल नहीं होने से दरवाजे टूट गए तथा रंग उतर गया है। इसके अलावा भवन में की गई बिजली की फीटिंग उखड़ गई है तथा पंखे व अन्य सामान चोरी हो गए हैं।

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika

शिकायत हुई तो मौका भी देखा
मैरिज हॉल को लेकर बार-बार शिकायत मिलने पर कई बार अधिकारियों ने मौका भी देखा, लेकिन इस संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की।
रखरखाव के साथ उपयोग भी हो
दुर्दशा का शिकार गफूर भ_ा के मैरिज हॉल के रखरखाव व उपयोग लेने की जरूरत है। किराए पर देने से नगर परिषद को अच्छी आय भी हो सकती है।

फैक्ट फाइल
14 लाख की लागत से बना ये हाल
6 वर्ष पूर्व हुआ था निर्माण
00 बार हुआ है भवन का उपयोग
6000 से अधिक की आबादी है वार्ड में

इनका कहना
कई बार नगर परिषद आयुक्त व अन्य जिम्मेदारों को अवगत करवा दिया। कई अधिकारी मौका भी देख चुके हैं। बिजली और पानी का कनेक्शन भी नहीं है।
- पर्वतसिंह भाटी, वार्ड पार्षद

गफूर भट्टा मैरिज हॉल दुर्दशा के बारे में मुझे अवगत नहीं करवाया गया है। लेकिन अगर ऐसा है तो जल्द से जल्द इसे आम जन के लिए उपयोगी बनाने की व्यवस्था करवाई जाएगी।
झब्बरसिंह चौहान, आयुक्त नगरपरिषद, जैसलमेर

Jaisalmer patrika
IMAGE CREDIT: patrika
jitendra changani Desk/Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned