इन्द्र को प्रसन्न करने के लिए किया यज्ञ

इन्द्र को प्रसन्न करने के लिए किया यज्ञ

Deepak Vyas | Publish: Sep, 03 2018 05:48:15 PM (IST) Jaisalmer, Rajasthan, India

पोकरण क्षेत्र के बरड़ाना गांव में स्थित तेजसिंह भोमियाजी मंदिर में रविवार को यज्ञ का आयोजन किया गया।

पोकरण. क्षेत्र के बरड़ाना गांव में स्थित तेजसिंह भोमियाजी मंदिर में रविवार को यज्ञ का आयोजन किया गया। क्षेत्र में अभी तक बारिश नहीं होने पर ग्रामीणों की ओर से तेजसिंह भोमियाजी मंदिर में भगवान इन्द्र को प्रसन्न करने के लिए यज्ञ का आयोजन किया गया। आचार्य पंडित स्वरूप शर्मा, अर्जुन शर्मा के सानिध्य में यजमान रुगनाथसिंह सहित पांच जोड़ों की ओर से यज्ञ में आहुतियां दी गई। इस अवसर पर मंदिर के शिखर पर ध्वजारोहण किया गया। इससे पूर्व शनिवार की रात्रि में जागरण का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में भूराबाबा गुफा के पुजारी माणक भारथी, तुलछसिंह, आमसिंह, अर्जुनसिंह, प्रेमसिंह, रुगनाथसिंह, भोमसिंह, बलदेवसिंह, गायड़सिंह, महेन्द्रसिंह, स्वरूपसिंह, देवीसिंह, भैरुसिंह बरड़ाना, भाखरसिंह, चैनसिंह, हुकमसिंह सहित ग्रामीण उपस्थित थे।

ज्ञापन में बयां की शहरी समस्याएं
जैसलमेर. शहरी समस्याओं के निराकरण व शहर विकास में सहयोग करने की मांग को लेकर एवं प्रतिनिधि मंडल जिला कलक्टर से मिला और ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि पर्यटन के लिए विश्व विख्यात एवं ऐतिहासिक स्वर्ण नगरी जैसलमेर में प्रतिवर्ष लाखों की संख्या में भारतीय व विदेशी पर्यटक यहां आते है, जो स्वर्ण पत्थर से निर्मित दुर्ग, मंदिर, भवन, हवेलियां, तालाबों एवं छतरियों को देखकर भाव विभोर हो जाते है । पर्यटक क्षेत्र में व्याप्त गंदगी टूटी सडक़ों व आवारा पशुओं का विचरण, आवारा श्वानों का आतंक सडक़ मार्ग पर अतिक्रमण, बेतरतीब ढंग से खड़े हाथ ठेले, अव्यवस्थित यातायात व्यवस्था, होटल व्यवसाय में लिप्त लपकों, टैक्सी चालकों, सम धोरों पर ऊंट संचालकों की ओर से किए जाने वाले दुव्यर्वहार, ठगी एवं धोखाधड़ी से पीड़ादायक अनुभव लेकर यहां से प्रस्थान करते हंैं। उन्होंने निराशा जताई कि अभी तक उच्च पदस्थ अधिकारियों एवं नगरपरिषद के अधिकारियों की ओर से समस्याओं के निराकरण के लिए ठोकस व सकारात्मक प्रयास नहीं किए गए। ज्ञापन में भंवरलाल बल्लाणी, महेश वासु, कैलाश व्यास सहित पर्यटन व्यवसायियों ने आग्रह किया है पर्यटन नगरी की सुन्दरता को निहारने एवं उक्त समस्याओं से रुबरु होने के लिए सप्ताह में एक बार संबंधित अधिकारियों के साथ हनुमान चौराहा से गड़ीसर चौराहा तक जैसलमेर दुर्ग व शहर की विभिन्न गलियों व पर्यटन स्थला पहुंच मार्गों का भ्रमण करें।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned