पाकिस्तानी सुमायला और भारत के कमल के बीच ऐसा प्यार कि मोदी से लगाई गुहार

जनवरी, 2018 में वीडियो कॉल के जरिए हो चुकी है सगाई

दोनों के परिवार राजी, लॉकडाउन के कारण नहीं हो पा रही शादी

कमल कल्याण के पिता ने कहा- खून के रिश्ते सरहदें नहीं देखते

By: Bhanu Pratap

Updated: 24 Jun 2020, 05:37 PM IST

जालंधर (पंजाब)। पाकिस्तान की सुमायला और भारत के कमल कल्याण के बीच अनोखा प्यार है। दोनों कभी मिले नहीं, पर प्रेम की डोर से बंधे हुए हैं। 2018 में वीडियो कॉल से सगाई हो चुकी है। अब शादी करनी है। कोरोनावायरस के कारण लॉकडाउन है और सरहद बंद है। न आना, न जाना। सुमायला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से वीजा देने की गुहार लगाई है ताकि शादी हो सके।

वीडियो कॉल से हुई सगाई

पाकिस्तान के यूहानाबाद, लाहौर की रहने वाली सुमायला 35 साल की है। पंजाब के जालंधर के रहने वाले हैं कमल कल्याण। दूर के रिश्तेदार हैं। दोनों में बातचीत होते-होते बात प्यार तक पहुंच गई। फिर दोनों परिवारों की रजामंदी से रिश्ता तय हुआ। 26 जनवरी, 2018 का दिन सगाई के लिए तय हुआ। जालंधर में कमल सजधज कर तैयार हुआ और युहानाबाद में सुमायला दुल्हन की तरह सजी। वीडियो कॉल के जरिए दोनों की सगाई हो गई। दोनों की अभी तक मुलाकात नहीं हुई है। हां, फोन पर मिलते हैं।

प्रधानमंत्री से गुहार

अब दोनों को शादी करनी है। लॉकडाउन के कारण समस्या खड़ी हो गई है। कोई काम नहीं हो पा रहा है। सुमायला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से गुहार लगाई है कि कमल को पाकिस्तान का वीजा दिलाएं ताकि शादी हो सके। दस्तावेज तैयार हैं। सरहद खोली जाए। लोगों को आने-जाने दिया जाए। उसे भारत आना है। यहां शादी का पंजीकरण कराकर भारत की नागरिकता भी लेनी है।

खून के रिश्ते सरहदें नहीं देखते

कमल के पिता ओम प्रकाश पंजाब एंड सिंध बैंक से अवकाश प्राप्त हैं। वे कहते हैं - खून के रिश्ते सरहदें नहीं देखते। मेरी दो मौसी हैं जिनकी लाहौर और कसूर में शादी हुई थी। मेरी कजिन सिस्टर आशिया की बेटी सुमायला से मैंने अपने बेटे का रिश्ता तय किया है। कमल की मां सुदेश का कहनी हैं - सुमायला भारत के रहन-सहन से काफी प्रभावित है। दोनों परिवारों में चर्चा हुई और रिश्ता करने का फैसला किया।

Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned