आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने की मांग

आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने की मांग
आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने की मांग

Jitesh kumar Rawal | Updated: 21 Aug 2019, 04:35:01 PM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan.news

जिले भर में क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन की ओर से सौंपे गए ज्ञापन, ज्ञापन के माध्यम से सरकार की ओर से की गई घोषणा पर ध्यानाकर्षण करवाया


जालोर. क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन के तत्वावधान में मंगलवार को उपखंड अधिकारी चितलवाना को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में ईडब्ल्यू आरक्षण की विसंगतियां की घोषणा पूरी करने की मांग की गई। ज्ञापन में बताया गया है कि विधानसभा सत्र का अवसान हुए पर्याप्त समय हो चुका है एवं इस बीच राज्य सरकार द्वारा विभिन्न विभागों में हजारों पदों के लिए विज्ञप्तियां जारी की जा रही है। लेकिन अभी तक आरक्षण की विसंगतियां दूर नहीं की गई है, जिससे इसका लाभ वर्ग को नहीं मिल पाएगा। ज्ञापन में समस्या समाधान की मांग की गई है। इस दौरान महिपालसिंह आकोली, किशनसिंह, मानसिंह, सरूपसिंह, मदनसिंह आकोली, राणसिंह, गोपालसिंह, मालमसिंह, लक्ष्मणसिंह समेत कई जने मौजूद रहे।


भीनमाल. क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन की ओर से मंगलवार को मुख्यमंत्री के नाम उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर इडब्ल्यूएस आरक्षण में विसंगतियां को दूर करने की मांग की। ज्ञापन में बताया कि विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान बजट पर चर्चा का जबाब देते हुए मुख्यमंत्री ने 29 जुलाई को इडब्ल्यूएस आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने के लिए मंत्री समूह गठित करने की घोषणा की थी। विधानसभा के सत्र का अवसान हुए पर्याप्त समय हो चुका है एवं इस बीच राज्य सरकार द्वारा विभिन्न विभागों में हजारों पदों के लिए विज्ञप्तियां जारी की जा रही हैं, लेकिन अभी तक मुख्यमंत्री ने अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की है। उन्होंने ज्ञापन में गुजरात सरकार की तरह मंत्री समूह का गठन कर आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने की कार्रवाई करने की मांग की। इस मौके एडवोकेट हरिशचंद्रसिंह पुनक, मालमसिंह बुडतरा, रेवतसिंह राऊता, ईश्वरसिंह दुदवा, रघुनाथसिंह भाटी, गोपालसिंह राऊता, आसूसिंह सेरना, शैलेन्द्रसिंह, प्रवीणसिंह करड़ा, गोपालसिंह, जितेंद्रसिंह पाणवा, जितेंद्रसिंह मोदरा, सूरजपालसिंह भूतेल, भैरूपालसिंह दासपां, चंदनसिंह कावतरा, शिवमंगलसिंह दासपां, मिटूसिंह तालियाना व बलवंतसिंह मुंडारा सहित कई लोग मौजूद थे।


सांचौर. क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन टीम चितलवाना ने मंगलवार को सीएम के नाम तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर कर ईडब्लूएस आरक्षण की विसंगतियों की घोषणा पूरी करने की मांग की। फाउंडेशन के देवीसिंह तैतरोल ने बताया कि राजस्थान विधानसभा में मानसून सत्र के दौरान बजट पर चर्चा का जबाब देते हुए 29 जुलाई को आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने के लिए मंत्री समूह गठित करने की घोषणा की गई थी। विधानसभा के सत्र का अवसान हुए पर्याप्त समय हो चुका है और इस बीच राज्य सरकार की ओर से विभिन्न विभागों में हजारों पदों के लिए विज्ञप्तियां जारी की जा रही हैं। ऐसे में इस वर्ग के युवा इस विषय में सकारात्मक कार्यवाही की अपेक्षा करते हैं। संगठन ने ज्ञापन के जरिए इस विषय में मंत्री समूह का गठन कर गुजरात सरकार की तर्ज पर विसंगतियों को दूर करने के आदेश जारी करवाने की मांग की। इस मौके भानसिंह सांगड़वा, गोपालसिंह डावल, राण सिंहरतोड़ा, गोपालसिंह खिंची, विक्रमसिंह रणोदर, जेठूसिंह सिवाड़ा, किशनसिंह, महिपालसिंह आकोली, स्वरूपसिंह केरिया, कानसिंह परावा, सूरजपालसिंह धमाणा, कुलदीपसिंह इसरोल व राणमल शर्मा मौजूद थे।


आहोर. क्षात्र पुरुषार्थ फाउंडेशन की ओर से इडब्ल्यूएस आरक्षण की घोषणा को पूरा करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा गया। इसमें बताया कि इडब्ल्यूएस आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने के लिए मंत्री समूह गठन करने की घोषणा की गई थी, लेकिन अभी तक का मंत्री समूह का गठन नहीं हो पाया है। इस संबंध में त्वरित कार्रवाई करते हुए मंत्री समूह का गठन कर गुजरात सरकार की तर्ज पर आरक्षण की विसंगतियों को दूर करने के लिए प्रभावी कार्रवाई करने की मांग की गई। इस मौके पर परबतसिंह पांचोटा, प्रहलादसिंह रामा, चंदनसिंह डुडसी, गोपालसिंह सामुजा, अमरसिंह सामुजा, भरतसिंह राजपुरोहित, नरपतसिंह राजपुरोहित, सोहनसिंह शंखवाली, वीर बहादुर सिंह असाडा समेत कई जने मौजूद थे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned