मिर्गी के दौरे से डॉक्टर की मौत

कमरे पर थे चिकित्सक, ईमरजेंसी में फोन करने पर रिसीव नहीं किया तो कार्मिक पहुंचे थे घर पर

By: Dharmendra Kumar Ramawat

Published: 26 May 2018, 11:12 AM IST

भीनमाल. शहर के राजकीय अस्पताल में कार्यरत एक डॉक्टर की शुक्रवार को मिर्गी का दौरा पडऩे से मौत हो गई। राजकीय अस्पताल के स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ.मुकेश गुप्ता (36) की उनके आवास पर मिर्गी का दौरा पडऩे से मौत हो गई। डॉक्टर की मौत के बाद शव को अस्पताल के कर्मचारियों ने राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखकर परिजनों को सूचना दी। सुबह अस्पताल में डिलीवरी केस आने पर कर्मचारियों ने चिकित्सक को फोन किए, लेकिन डॉक्टर ने कोई जवाब नहीं दिया। जिस पर कर्मचारी उनके आवास पर पहुंचे तो चिकित्सक पलंग पर उल्टे पडे थे, उन्हे मिर्गी का दौरा पड़ा था। कर्मचारियों ने चिकित्सक को सीधा किया एवं अस्पताल लाए। जहां उन्हें मृत घोषित किया। इसके बाद परिजनों की रजामंदी के बाद मेडिकल बोर्ड से शव का पोस्टमार्टम करवाया। जानकारी के अनुसार डॉ.मुकेश गुप्ता पिछले 5 साल से राजकीय अस्पताल में सेवा दे रहे थे। चिकित्सक की मौत की खबर सुनते ही राजकीय अस्पताल में लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर सीएमएचओ डॉ.बाबूलाल विश्नोई भी राजकीय अस्पताल पहुंचे। पुलिस के अनुसार सीएससी प्रभारी डॉ. एमएम जांगिड़ ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि डॉ. मुकेश गुप्ता पुत्र मुरारीलाल शर्मा निवासी सांगानेर रोड मानसरोवर जयपुर हाल भीनमाल राजकीय अस्पताल में कार्यरत थे। वे सुबह अपने आवास पर थे। अस्पताल में डिलीवरी केस आने पर कर्मचारियों ने फोन किया। लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।
गर्दन टूटने से हुई मौत
डॉ. गुप्ता को मिर्गी का दौरा पडऩे के बाद अस्पताल लाया गया, लेकिन तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। इसके बाद पोस्टमार्टम किया गया तो रिपोर्ट में सामने आया कि उनकी मौत गर्दन टूटने से हुई थी। ऐसे में पुलिस ने डॉ. जांगिड की रिपोर्ट पर मर्ग दर्ज किया।
चिकित्सक को पूर्व में भी पड़ चुके हैं दौरे
गौरतलब है कि डॉ. गुप्ता को इससे पहले भी कई बार मिर्गी के दौरे पड़ चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक इसी वजह से परेशान होकर उनकी पत्नी ने भी उन्हें तलाक दिया था। वहीं अस्पताल प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक गुप्ता को पंद्रह दिन पहले ही अस्पताल में ड्यूटी के दौरान भी मिर्गी का दौरा पड़ा था। जिससे उनके कंधे में फ्रेक्चर हो गया था। इसके बाद अन्य चिकित्सकों ने उनका उपचार किया था।

Dharmendra Kumar Ramawat Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned