सुरक्षित माहौल में अब मुस्कुरा रही बेटियां

सुरक्षित माहौल में अब मुस्कुरा रही बेटियां

Jitesh kumar Rawal | Updated: 14 Jul 2019, 02:04:25 PM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan.news

पहले गड़बड़ाया हुआ था लिंगानुपात, पिछले दो वर्षों से लगातार बढ़ रहा


जालोर. जालोर जैसे पिछड़े इलाकों में कुछ वर्षों तक बाल लिंगानुपात काफी हद तक गड़बड़ाया हुआ था, लेकिन पिछले कुछ सालों से मिल रहे सुरक्षित माहौल के कारण बेटियां मुस्कुरा रही है। बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना को लेकर यहां वृहद स्तर पर कार्य किया जा रहा है। ऐसे में पिछले दो वर्षों में ही यह आंकड़ा 22 तक आगे बढ़ चुका है।
जिले में कुछ चरणों में चलाए गए अनमोल हैं बेटियां अभियान को लेकर काफी जागरूकता आई हैं। अभियान के तहत जिलेभर में 36 हजार बेटियों को संदेशवाहक बनाया गया है। जिले की 274 ग्राम पंचायतों में एक साथ एक ही समय पर इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किए गए तथा लोगों में बेटी बचाने को लेकर संदेश दिया गया। अधिकारी बताते हैं कि वर्तमान में जालोर का बाल लिंगानुपात एक हजार बेटों पर 974 बेटियां है। इससे पहले यह आंकड़ा 960 पर एवं उससे भी पहले 952 पर ही था।


जालोर टीम ने किए दो डिकॉय ऑपरेशन
साथ ही कन्या भू्रण जांच की रोकथाम को लेकर किए जा रहे डिकॉय ऑपरेशन ने भी बेटियों को मुस्कुराने में मदद की है। पीसीपीएनडीटी एक्ट के तहत देशभर में हुए कुल 151 में से दो डिकॉय ऑपरेशन जिले की टीम ने किए हैं। इस तरह की कार्रवाई से भ्रूण जांच करने वाले लोगों में पकड़े जाने का डर बना हुआ है। ये ऑपरेशन वर्ष- 2016 व 2019 में किए गए थे।


सम्मानजनक स्थिति में पहुंचे
जिले का बाल लिंगानुपात इन दिनों सम्मानजनक स्थिति में है। पहले यह अनुपात काफी असंतुलित था वहीं अब लगातार बढ़ रहा है। गत दो वर्षों से लिंगानुपात 22 अंक तक बढ़ चुका है। अधिकारी बताते हैं कि बेटी बचाने को लेकर लगातार प्रयास किए जा रहे हैं, जिससे लोगों में जागरूकता बढ़ रही है।


लगातार प्रगति पर है...
बाल लिंगानुपात के मामले में जालोर जिला लगातार प्रगति कर रहा है। पहले के मुकाबले स्थितियां काफी बदली है तथा लगातार चल रहे विभिन्न प्रयासों के कारण लोगों में जागरूकता आ रही है।
- शंकर सुथार, जिला समन्वयक, पीसीपीएनडीटी, जालोर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned