बजरी खनन पर न्यायालय की रोक, पुलिस काट रही चांदी

बजरी खनन पर न्यायालय की रोक, पुलिस काट रही चांदी
बजरी खनन पर न्यायालय की रोक, पुलिस काट रही चांदी

Dharmendra Ramawat | Updated: 26 May 2019, 11:09:55 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

www.patrika.com/rajasthan-news

चितलवाना. सुप्रीम कोर्ट की ओर से बजरी खनन पर रोक लगाने के बावजूद हाइवे पर स्थित सिवाड़ा चौकी से हर रोज बजरी से भरी गाडिय़ों को खुलेआम रुकवाकर एंट्री लेने के बाद पार करवाया जा रहा है। शनिवार को भी इस चौकी पर कुछ ऐसा ही नजर आया। चौकी से थोड़ी दूरी पर बजरी से भरा एक डम्पर रुकवाया गया। काफी देर तक सड़क किनारे यह डम्पर पड़ा रहा। इसके बाद चालक चौकी में भी बुलाया गया, लेकिन कार्रवाई के नाम पर कुछ नहीं हुआ। इसके कुछ देर बाद ही बजरी से भरा यह डम्पर यहां से रवाना हो गया। जबकि सिवाड़ा यातायात चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों का कहना है कि पिछले सात दिन में अवैध बजरी को लेकर उन्होंने एक भी कार्रवाई नहीं की है। ऐसे में यह साफ है कि पुलिस की शह से ही बजरी का यह अवैध कारोबार क्षेत्र में फल-फूल रहा है। आए दिन राष्ट्रीय राजमार्ग 68 पर बजरी से भरे ये डम्पर पुलिस की मिलीभगत के कारण हाइवे से होते हुए जालोर व बाड़मेर की सीमा के गांवों में पहुंच रहे हैं।
सैकड़ों गाडिय़ां होती है पार, लेते हैं एंट्री
सुप्रीम कोर्ट की रोक के बावजूद हाइवे पर सिवाड़ा चौकी से दिन रात सैकड़ों गाडिय़ां पार हो रही हैं। इन गाडिय़ों में बजरी भर कर गांवों तक पहुंचाई जा रही है। इसके बावजूद पुलिस की मिलीभगत से हाईवे से गुजर रही हैं। बजरी की गाड़ी पार होने से पहले इस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी हाथ से इशारा कर वाहन को रुकवाते हैं और इसके बाद चालक गाड़ी को साइड में खड़ी कर चुपचाप एंट्री देकर पार हो जाते हैं।
इनका कहना...
सिवाड़ा चौकी पर पिछले सात दिन में एक भी बजरी की गाड़ी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। वैसे बजरी से भरी गाडिय़ां हाइवे से निकलती जरूर हैं।
- मोहनराम, चौकी प्रभारी, सिवाड़ा
सिवाड़ा चौकी पर स्टाफ को हमने लीगल कार्रवाई करने के बारे में कह रखा है। फिर भी अवैध वसूली करते हैं तो एसपी को अवगत करवाया जाएगा।
- जसवंतसिंह राजपुरोहित, थानाप्रभारी, चितलवाना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned