जालोर के शिक्षक से बलाना के पास यह क्या किया शरारती तत्वों ने

जालोर के शिक्षक से बलाना के पास यह क्या किया शरारती तत्वों ने

Khushal Singh Bhati | Updated: 08 Aug 2019, 11:01:25 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India


- पाली जिले के बलाना क्षेत्र में मंगलवार रात का घटनाक्रम, बाइक पर सवार थे दो युवक पुलिस को इत्तला देने पर मौके से फरार

जालोर. पाली जिले के अंतर्गत सांडेराव-तखतगढ़ के बीच दो युवकों नेेे जालोर निवासी दो जनों को घेर कर उसने बदसलूकी की। घटनाक्रम मंगलवार रात करीब 10.३० बजे का है। जब जालोर निवासी देशाराम माली जो पेश से एक शिक्षक है और उनका भांजा जितेंद्र कुमार माली अजमेर से जालोर आ रहे थे। ये दोनों अजमेर बोर्ड में स्कूली कार्य से गए थे और लौटते वक्त देरी हो गई। सांडेराव से तखतगढ़ के बीच बलाना गांव के पास दो बाइक सवार युवक इनकी कार के समानांतर अपनी बुलेट बाइक को चलाने लगे तो देशाराम माली ने संभावित हादसे को देखते हुए कार की रफ्तार को कम कर दिया। लेकिन बुलेट पर सवार दोनों युवकों ने भी जानबूझकर अपनी बाइक की रफ्तार को कम कर दिया और फिर से कार के समानांतर आ गए। चूंकि नेशनल हाइवे प्रोजेक्ट के तहत सड़क निर्माण का काम चल रहा है तो यहां रास्ता काफी क्षतिग्रस्त था। ऐसे में कार चालक ने कार को काफी धीमा किया। इस पर बाइक सवार युवक कार के आगे कट मारने लगे। कार को रोकने पर बाइक सवार उनके पास आए और बाइक को कार के साइड में टक्कर मार कर उसे नीचे गिरा दिया और कार चालक और उसमें सवार युवक से उलझने लगे और उन्हें धमकाने लगे।
उलझते रहे बाइक सवार, फिर भागे
घटनाक्रम के बाद पुलिस के पास चलने की सहमति हुई। जिस पर कार चालक तखतगढ़ थाने जाने के लिए सहमत हुआ। जिस पर बाइक सवार में से एक कार में सवार हो गया और उन्हें पुलिस थाने चलने को कहा। कार चालक ने जैसे ही कार को तखतगढ़ के लिए रवाना करने की कोशिश की तो उसने चालक का हाथ दबोच लिया और कार को विपरीत दिशा में मोडऩे की कोशिश की। उन्हें तखतगढ़ चलने के लिए कहा तो वे कार में सवार दूसरे युवक से उलझने लगे। इस दौरान कार चला रहे शिक्षक देशाराम ने संभावित हालातों को देखते हुए जालोर कोतवाली को सूचित कर अनहोनी की आशंका जताई और इस संबंध में तखतगढ़ थाने को सूचित कर मौके पर भेजने की गुजारिश की। यह बात बाइक पर सवार युवकों ने सुन ली और मौके से फरार हो गए। इसके बाद कार चालक रात में तखतगढ़ थाने पहुंचे और घटनाक्रम से पुलिस को अवगत करवाया। इसके बाद पुलिस कांस्टेबल आशाराम ने कार चालक के साथ जाकर घटनाक्रम को देखा। मामले में हालांकि प्राथमिकी दर्ज नहीं करवाई गई है, लेकिन मामला इसलिए खास है क्योंकि यह एक गिरोह हो सकता है जो इस तरह से वाहन चालकों को घेर कर वारदातों को अंजाम देता हो ऐसा संभव है। मामला पाली जिले का है और जालोर जिले से पाली समेत अजमेर, जयपुर और उदयपुर को जाने का यह मुख्य मार्ग भी है। इसलिए संभावित हालातों को देखते हुए पुलिस कार्रवाई की आवश्यकता है साथ ही आरोपियों की पहचान के साथ साथ ऐसे तत्वों पर अंकुश लगाने की जरुरत है।
रुपए ऐंठने का हो सकता है खेल
कार चला रहे देशाराम का कहना था कि घटनाक्रम को पूरी तरह से बाइकर्स मैनेज करने का प्रयास कर रहे थे। यही नहीं जैसे ही उसने कार रोकी तो बाइक सवार ने बाइक को कार के पास लाकर नीचे गिरा दिया और घटनाक्रम के लिए कार सवार को जिम्मेदार ठहराने लगे। कार चालक का कहना है कि संभावित था कि ये युवक इस बहाने उनसे रुपए ऐंठने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन चूंकि पुलिस को उसने सूचित कर दिया और वे डर के मारे वहां से भाग गए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned