सांचौर में कुछ इस तरह हो रहा किसानों के साथ धोखा

सांचौर में कुछ इस तरह हो रहा किसानों के साथ धोखा
सांचौर में कुछ इस तरह हो रहा किसानों के साथ धोखा

Dharmendra Ramawat | Publish: Feb, 28 2019 11:21:47 AM (IST) Jalore, Jalore, Rajasthan, India

डीलर ने सब्सिडी के नाम पर किसानों ने ली थी राशि, फिर भी उपकरण नहीं देने के मामले ने पकड़ा तूल

सांचौर. राज्य सरकार की ओर से सोलर ऊर्जा उपकरण की खरीद के लिए दी जाने वाली सब्सिडी को लेकर क्षेत्र के दर्जनों किसानों से डीलर ने रुपए तो लिए, लेकिन दो साल बाद भी उपकरण नहीं देने का मामला तूल पकडऩे लगा है। इधर, विभाग ने इस मामले में ऐसी किसी प्रकार की फाइलें लम्बित होने की बात से इन्कार करते हुए पल्ला झाड़ लिया है। जिसके बाद डीलर को एडवंास रुपए देने वाले किसान ठगा सा महसूस कर रहे हैं। वहीं इस मामले को लेकर क्षेत्र के किसानों की स्थानीय डीलर के पास कतार लग रही है, लेकिन डीलर की ओर से किसानों को संतोषजनक जबाब नहीं देने के कारण किसानों में रोष पनप रहा है। झोटड़ा व आकोली के बाद बुधवार को मालवाड़ा के पीडि़त किसान आगे आए और कलक्टर व सीएम के नाम ज्ञापन भेजकर मामले में डीलर व उद्यान विभाग के दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। किसानों ने बताया कि स्थानीय डीलर को सोलर ऊर्जा प्लांट की सब्सिडी के लिए कृषक हिस्से की सम्पूर्ण राशि जमा करवाए साल गुजर गया है। इसके बावजूद ना तो उन्हें प्लांट के लिए उपकरण मिले हैं और ना ही विभाग में सब्सिडी के लिए उनकी फाइलें हैं। ऐसे में किसानों के साथ अन्याय हो रहा है। उन्होंने इस मामले में कठोर कार्यवाही की मांग करते हुए कार्यवाही नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।
इन किसानों ने बताई पीड़ा
सोलर ऊर्जा के लिए कृषक हिस्से की अग्रिम राशि पूर्ण रूप से जमा करवाने वाले मालवाड़ा निवासी भैराराम पुत्र टीकमाराम चौधरी, हीराराम पुत्र टीकमाराम चौधरी व मांगीलाल पुत्र रामचन्द्र बिश्नोई अब डीलर व विभाग के चक्कर काटने को मजबूर है, लेकिन इनकी कोई सुनने वाला तक नहीं है।
अब वन मंत्री से न्याय की आस
क्षेत्र के किसानों के साथ सोलर ऊर्जा उपकरण की सब्सिडी के नाम पर हो रही धोखाधड़ी का मामला प्रकाश में आने के बाद पीडि़त किसानों को वन एवं पर्यावरण मंत्री सुखराम बिश्नोई से न्याय की उम्मीद लगी है। इसको लेकर किसानों ने उन्हें ज्ञापन भी भेजा है। किसानों ने बताया कि सब्सिडी के नाम पर उनके साथ धोखा हुआ है। जिससे वे भारी परेशानी में है। उन्होंने इस मामले में वन एवं पर्यावरण मंत्री से न्याय की गुहार लगाई है।
रसीद तक नहीं दे रहे डीलर
स्थानीय कृषक सौर ऊर्जा उपकरण को लेकर सब्सिडी के लिए जब डीलर के पास जाते हैं तो उनसे डीडी की बजाय नगद रुपए मांगे जाते हैं। जिसकी रसीद मांगने पर भी नहीं दी जाती है। ऐसे में क्षेत्र के कई किसान इस तरह की ठगी का शिकार हो रहे हैं। जिन्होंने स्थानीय डीलर को कृषक हिस्सा का सम्पूर्ण पैसा तो दे दिया, लेकिन कोई प्राप्ति रसीद नहीं दी है।
इनका कहना है...
स्थानीय डीलर व विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से किसानों के साथ धोखा हो रहा है। सोलर ऊर्जा उपकरण पर सब्सिडी के नाम पर किसानों से एडवांस में कृषक हिस्सा राशि लेने के बावजूद उपकरण नहीं देना खुली धोखाधड़ी है। इसको लेकर उच्चाधिकारियों को अवगत भी करवा दिया गया है। मामले में दोषी डीलर व विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही नहीं हुई तो आंदोलन होगा।
- जगदीश पूनीया, संयोजक, किसान सभा, चितलवाना

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned