अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू-कश्मीर में बड़े प्रशासनिक बदलाव की तैयारी

प्रशासन के मुताबिक यह कवायद दो संभाग में जिलों की (Jammu And Kashmir News) अधिक संख्या और संभाग मुख्यालय से दूरी व अन्य प्रशासनिक दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए की जा रही है...

By: Prateek

Updated: 21 Nov 2019, 08:44 PM IST

(जम्मू): केंद्र शासित प्रदेश जम्मू—कश्मीर में नया संभाग बनाने की तैयारियां शुरू हो गई है। संभाग में दक्षिणी कश्मीर के तीन और जम्मू संभाग के तीन जिलों को शामिल किया जा सकता है।

 

यह भी पढ़ें: यहां आमने-सामने गरजेंगे BJP और Congress के स्टार प्रचारक, जनता भी कर रही इंतजार


प्रशासन के मुताबिक यह कवायद दोनों संभाग में जिलों की अधिक संख्या और संभाग मुख्यालय से दूरी व अन्य प्रशासनिक दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए की जा रही है। हालांकि माना जा रहा है कि जम्मू संभाग और कश्मीर संभाग के राजनीतिक प्रतिनिधित्व को बैलेंस करने के लिए यह फैसला किया गया है। क्योंकि पहले कश्मीर संभाग के 10 जिलों से 46 विधायक तो 3 सांसद आते थे। वहीं जम्मू संभाग के 10 जिलों से 37 विधायक और 2 सांसद आते थे।

 

यह भी पढ़ें: सोनिया को लिखा खत तो मिला कांग्रेस का टिकट, इनके आने से दिलचस्प हुआ पिथौरागढ़ उप चुनाव

 

कश्मीर संभाग में कुछ इलाके कम होने पर जम्मू संभाग को मजबूती मिलेगी। विधानसभा क्षेत्रों के परिसीमन के बाद इस पर फैसला हो सकता है। सूत्रों के अनुसार नए संभाग के लिए रोड मैप तैयार किया जा रहा है। पूरा रोड मैप तैयार करने के बाद ही अंतिम फैसला लिया जाएगा। कश्मीर संभाग के अनंतनाग, शोपियां और कुलगाम के साथ-साथ जम्मू के किश्तवाड़, डोडा और रामबन के साथ मिलाकर नया संभाग बनाए जाने के आसार हैं।


जम्मू-कश्मीर की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें: Video: सब सोते रहे, कमरे में सैर करता रहा तेंदुआ, लोगों ने यूं बचाई जान

Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned