जांच के लिए 5 टीम, 15 दिन, 25 कर्मचारी, 125 संदेहियों से पूछताछ, 35 हजार का इनाम, बावजूद डकैती का सुराग नहीं

- चांपा के राइटर सेफ कंपनी से 63 लाख की डकैती का मामला

By: Vasudev Yadav

Published: 09 Dec 2017, 02:54 PM IST

जांजगीर.चांपा। चांपा के जगदल्ला स्थित राइटर सेफ कंपनी के दफ्तर में पांच डकैतों ने 26 नवंबर की रात 10.30 बजे दो कर्मचारियों के सिर में कट्टा अड़ाकर आलमारी में रखे 63 लाख 52 हजार रुपए लेकर भाग निकले थे। डकैती का सुराग लगाने आईजी पुरूषोत्तम गौतम ने चार जिले के पांच टीम को लगाई है। घटना को 15 दिन हो चुकेए 25 कर्मचारी लगातार भागदौड़ कर रहे हैं। इसके बाद भी डकैतों का सुराग नहीं लग पा रहा है। जबकि आईजी ने इसके लिए सुराग बताने वालों को 35 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। इसके बाद भी पुलिस के हाथ खाली है।

पुलिस लगातर दीजर जिले समेत अपने जिले के 125 से डेढ़ सौ तक संदेहियों से पूछताछ कर चुकी। जेल से छूटे चोरी डकैती एवं लूट के आरोपियों से लगातार हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। इसके बाद भी डकैती के आरोपियों का सुराग नही लगा पाई है। जबकि इसके लिए जिले के दबंग पुलिसकर्मियों के अलावा क्राइम ब्रांच का लगाया गया है। इतना ही नहीं अन्य जिले के दबंग पुलिसकर्मियों को लगाया गया है ताकि इतनी बड़ी डकैती का सुराग लग सके, इसके बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं।

Read More : शासकीय नवीन कॉलेज के पीछे धड़ल्ले से चल रहा था अवैध उत्खनन, तीन जेसीबी व पांच टै्रक्टर जब्त
गौरतलब है कि चांपा के राइटर सेफ कंपनी के दफ्तर से पांच नकाबपोश डकैतों ने 26 नवंबर की रात 10.30 बजे गार्ड के कनपटी में पिस्टल दबाकर 63 लाख रुपए व उनकी मोबाइल लूटकर भाग निकले थे। घटना के बाद डकैती की पतासाजी के लिए आईजी पुरूषोत्तम गौतम खुद घटना की गुत्थी सुलझाने कमान सम्हाली है। पुलिस की चार जिले टीम लगातार भागदौड़ कर रही है, लेकिन 15 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। 63 लाख जैसी इतनी बड़ी रकम आसपास के शराब भट्टी से आई थी, जिसे शनिवार-रविवार को छुट्टी होने की वजह से बैंक में जमा नहीं कर पाए थे। इसकी जानकारी डकैतों की थी, जिसका लाभ उठाते हुए वारदात को अंजाम दिया था।

12 लाख की चोरी का भी नहीं लगा सुराग
शिवरीनारायण थाने के खरौद के पीडब्ल्यूडी कर्मचारी के घर से अज्ञात चोरों ने 25 नवंबर की रात सोने चांदी के जेवर समेत साढ़े 12 लाख रुपए का माल पार कर दिए थे। इस मामले का सुराग भी पुलिस नहीं लगा पाई है। जबकि इस मामले में भी पीडि़त ने सुराग बताने वालों को 50 हजार रुपए इनाम देने की बात कही थी। वहीं पुलिस भी इस मामले में सुराग बताने वालों को 30 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। इसके बाद भी चोरों का सुराग नहीं लग पाया है।
जांच जारी है
चोरी व डकैती का सुराग लगाने पुलिस लगातार प्रयासरत है। 15 दिन बाद भी सुराग नहीं लग पाई है। दो दर्जन पुलिसकर्मी लगातार जांच कर रहे हैं- पंकज चंद्रा, एएसपी

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned