स्मार्ट कार्ड बनवाने के लिए हॉस्पिटल में बैठकर घंटों बिलखती रही वृद्धा

Amil Shrivas

Publish: Apr, 17 2018 12:08:38 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 01:22:22 PM (IST)

Jashpur Nagar, Chhattisgarh, India
स्मार्ट कार्ड बनवाने के लिए हॉस्पिटल में बैठकर घंटों बिलखती रही वृद्धा

लगाए गए शिविर का असहाय लोगों को नहीं मिल रहा लाभ

पत्थलगांव. पत्थलगांव सिविल हास्पिटल मे अपना स्मार्ट कार्ड बनवाने के लिए एक वृद्धा पूरे दिनभर रोती बिलखती रही, लेकिन उसकी फरियाद सिविल हास्पिटल के एक भी कर्मचारी ने नहीं सुनी। सुबह से शाम तक अस्पताल में बैठने के बाद वृद्धा थक हार कर अपने घर चली गई। इन दिनों राज्य शासन की पहल पर नए स्मार्ट कार्ड के अलावा पुराने स्मार्टकार्ड धारियों के कार्ड को आधार से लिंक करने के लिए सिविल अस्पताल में शिविर का आयोजन किया गया है, जिसकी कार्यशाला यहां के अग्रसेन भवन में दो दिन पहले आयोजित भी की गई थी। इस दौरान यहां आए उच्च अधिकारी व स्मार्ट कार्ड बनाने वाली कंपनी के प्रबंधको के द्वारा कर्मचारियों को प्रशिक्षण देकर नए व पुराने स्मार्ट कार्ड बनाने के अलावा उसे आधार से लिंक करने के भी दिशा निर्देश दिए गए थे। लेकिन इस कार्यशाला से उठने के बाद शायद चिकित्सा विभाग के कर्मचारियों ने सुनी बातो को एक कान से सुनकर दूसरे कान से निकाल दी। जिसका परिणाम रविवार को यहां के शिविर के दौरान देखने को मिला जब पुरानी बस्ती निवासी तलेश्वरी बाई पति जाखेड राम सुबह से स्मार्ट कार्ड बनाने के लिए सिविल हास्पिटल के दरवाजे मे आकर बैठ गई थी। उसके द्वारा शिविर मे जाकर एक दर्जन बार स्मार्ट कार्ड के दस्तावेज बनाने की गुहार लगाई गई थी।
कहा योजना सिर्फ अपात्रों के लिए : पत्थलगांव सिविल हास्पिटल में स्मार्ट कार्ड बनवाने पहुंची तिलेश्वरी बाई ने बताया कि वह यहां सुबह से बैठ कर दस बार शिविर मे जाकर अपना स्मार्ट कार्ड बनाने की गुहार लगा चुकी है। लेकिन किसी भी कर्मचारी ने उसकी बातो मे रूचि नहीं दिखाई,जिसके बाद वह थक हार कर सिविल हास्पिटल के परिसर मे ही बैठे-बैठे जोर जोर से रोने लगी।शिविर में पहुंचने वाले कुछ लोगों ने उसके पास जाकर उसे समझाया व सोमवार को शिविर मे पुन: आकर आवेदन लगाने की भी सलाह दी।लेकिन रविवार को उसके साथ हुई घटना को लेकर पूरी तरह बिफरी नजर आ रही थी बार-बार शासन की योजना के नाम पर गरीबो के साथ छलावा बता रही थी। उसका कहना था कि आज भी शासन के द्वारा चलाए जाने वाली योजना में अपात्रो को जगह मिलने के बाद पात्र दूर की पंक्ति मे खड़ा रहकर अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे हंै। उनके द्वारा स्मार्ट कार्ड की सुविधा सिर्फ चुनिंदा लोगो का बताते हुए पूरे सिस्टम को गरीबो के लिए बेकार बताया।

Ad Block is Banned